जल संकट: समर वेकेशन में शिमला घूमने मत जाना वरना दूध के दाम में मिलेगा पीने का पानी

शिमला:हिमाचलप्रदेशकीराजधानीशिमलाइनदिनोंभारीजलसंकटसेगुजररहीहै.लोगोंकोपानीनहींमिलपारहाहैऔरलोगपरेशानहोकरलगातारविरोधप्रदर्शनकररहेहैं.अबशिमलाप्रशासननेपानीकीकमीसेनिपटनेकेलिएअवैधपानीकेकनेक्शनकाटनेकाफैसलाकियाहै.शिमलाकेडिप्टीकमिश्नरअमितकश्यपनेकहाहै,”मुझेपानीकेअवैधकनेक्शनकेबारेमेंकुछशिकायतेंमिलीथींऔरवोजांचमेंसहीपाईगईहैं.इसलिएहमनेतयकियाहैकिगलततरीकेसेपानीलेरहेलोगोंकेकनेक्शनकाटदिएजाएंगेताकिलोगोंकोपानीमिलसके.पानीकाअवैधकनेक्शनलगानेवालोंकेखिलाफसख्तएक्शनलियाजाएगा.”

कश्यपनेबतायाकिउन्हेंमुख्यमंत्रीजयरामठाकुरऔरचीफसेक्रेटरीनेयेआदेशदियाहैताकिपानीकीकमीकीसमस्यासेनिपटाजासके.कश्यपनेबताया,”मैंनेपानीकीकमीकीसमस्यासेनिपटनेकेलिएकईजगहजाकरहालातकाजायजालियाहै,इसमामलेमेंजांचजारीहैऔरदोषियोंकोछोड़ानहींजाएगा.”

पानीकीसमस्यासेशिमलाकेआमलोगोंकेसाथसाथपर्यटनइंडस्ट्रीभीपरेशानहै.शिमलाघूमनेकाप्लानबनारहेलोगोंनेपानीकीकमीकीखबरेंसुनकरअपनेप्लानकैंसिलकरदिएहैंलेकिनजोलोगपहलेहीशिमलापहुंचचुकेहैंवोअबपरेशानहोरहेहैं.शिमलामेंपर्यटकोंकोमहंगेदामपरपानीखरीदनापड़रहाहै.शिमलाकेहोटलोंमेंरहरहेटूरिस्टोंकोपीनेकापानीभीसामान्यदामसेदोगुनीकीमतपरमिलरहाहै.

महाराष्ट्रसेशिमलाघूमनेपहुंचेहेमंतबदानेनेकहा,”मैंपरिवारकेसाथशिमलाघूमनेआयाथालेकिनयहांआकरजिसतरहपानीकीकमीहोरहीहैउससेहमअपनीट्रिपकोबीचमेंहीखत्मकरनेकीसोचरहेहैं.”उन्होंनेकहा,”जिसहोटलमेंहमठहरेहैंवोहमेंरोजकेहिसाबसेसिर्फएकबाल्टीपानीदेरहाहैऔरएकरातके3500रुपएचार्जकिएजारहेहैं,हमेंएकलीटरपानीकीबोतलकेलिएभी42रुपएदेनेपड़रहेहैं.”इसीतरहबाकीकईसारेपर्यटकभीपानीकीकमीकेचलतेअपनीट्रिपकोबीचमेंहीखत्मकरनेकीसोचरहेहैं.

पानीकीकमीसेपरेशानशिमलाकेलोगकईबारविरोधप्रदर्शनभीकरचुकेहैंलेकिनकोईफायदानहींहोरहा.लगातार8दिनोंसेशिमलामेंपानीकीसमस्याबनीहुईहै.शिमलाकेनिवासीओमप्रकाशकाकहनाहै,”हमेंपानीनहींमिलरहाहै,बड़ीमुश्किलसेएकबाल्टीपानीकीमिलरहीहै.”