जलभराव रोकने के लिए कमांडो की तरह काम करें, कुछ हट कर सोचें : अदालत

नयीदिल्ली,26जुलाई(भाषा)दिल्लीउच्चन्यायालयनेआमआदमीपार्टी(आप)कीसरकारसेबारिशकेमौसममेंराष्ट्रीयराजधानीमेंजलभरावरोकनेकेलिए“कुछहटकरसोचने”और“कमांडोकीतरहकामकरने”कोकहा।न्यायमूर्तिजीएससिस्तानीऔरन्यायमूर्तिज्योतिसिंहकीपीठनेकहाकिअगले20दिनोंमेंभारीबारिशकाअनुमानहैइसलिएदिल्लीसरकारकेलोकनिर्माणविभाग(पीडब्ल्यूडी)कोशहरमेंजलभरावनहो,यहसुनिश्चितकरनेकेलिए“हरसंभवप्रयास”करनेचाहिए।अदालतनेकहाकिजलभरावसेयातायातबाधितहोनेकेअलावाजिनसड़कोंयारास्तोंपरपानीभरारहताहैवेबच्चोंकेसाथहीपैदलचलनेवालोंकेलिएघातकहोसकतेहैंक्योंकिवेखुलेनालेनहींदेखपातेऔरउसमेंगिरकरगंभीररूपसेचोटिलहोसकतेहैंयाउनकीजानभीजासकतीहै।पीठनेपीडब्ल्यूडीकोआईटीओजैसेअतिसंवेदनशीलस्थानोंपरजलभरावरोकनेकेलिएपानीकेपंपोंकेसाथपहलेसेतैयारीरहनेकानिर्देशदियाहै।अदालतनेविभागकोनिर्देशदियाकिसभीचिह्नितस्थानोंकीअधिकारियोंद्वारानिरंतरनिगरानीहोताकिजैसेहीजलभरावहो,अधिकारीपानीकोहटानेकेलिएतत्कालकार्रवाईकरसकेंऔरयातायातबाधितहोनेसेरोकें।साथहीपीठनेसुझावदियाकिजिनस्थानोंपरपानीहटानासंभवनहींहोवहांजलाशयबनाएंजाएंयाअस्थायीरूपसेटैंकरलगादेंताकिइसपानीकोजमाकियाजासकेऔरअन्यप्रयोजनोंकेलिएइस्तेमालहोसके।