जंगल व नदी पर निर्भर सीमांत गांव के ग्रामीण

जागरणसंवाददाता,चम्पावत:सीमांतक्षेत्रसेलगेपोथवपूर्णागिरिग्रामसभाकेदर्जनोंग्रामीणजंगलवनदीपरनिर्भरहैं।गांवमेंनतोपानीकेपीनेकीबेहतरव्यवस्थाहैऔरनहीफसलोंकीसुरक्षाकेबेहतरइंतजाम।जंगलीजानवरफसलोंकोनष्टकरदेतेहैंतोवहांग्रामीणजंगलमेंउगनेवालेफलोंवनदीकापानीपीकरअपनागुजरबसरकररहेहैं।मगरइनग्रामीणोंकीसुननेवालाकोईनहींहै।

इंडो-नेपालबॉर्डरसेलगेपोथवपूर्णागिरीग्रामसभाकेकईतोकसीम,चूका,खिरद्वारी,संगरौन,फुर्कीजालासमेतआधादर्जनतोकआजभीविकासकारोनारोरहेहैं।हरसालइनक्षेत्रोंकेविकासकेलिएकरोड़ोंरुपयोंकीयोजनाएंएसीमेंबैठेलोगतैयारकरतेहैं।मगरयहयोजनाएंआजतकएसीसेबाहरधरातलपरनहींदिखी।कुछतोएसीमेंहीखत्महोजातीहैतोकुछबाहरआनेकेबादराजनेताओंवबाहरबैठेअधिकारियोंकीजेबोंमेंचलीजातीहै।कालीनदीकिनारेजंगलोंकेपासनिवासीकरनेवालेयहग्रामीणसालोंसेविकासकासपनासंजोएहुएहैं।उम्मीदहारकरग्रामीणोंनेजैसेतैसेफसललगाकरगुजरबसरकरनेकीकोशिशकीतोजंगलीजानवरउनफसलोंकोनहींछोड़ते।वहफसलकोनष्टकरदेते।पेयजलकीव्यवस्थानहोनेकेकारणनदीकापानीहीउनकासहाराहै।वहचाहेपीनेमेंहोयाफिरसिंचाईमें।रोजगारकाकोईसाधननहीं।सड़ककेनामपरनदीकाकच्चामार्गहै।अगरबारिशहोगईतोवहभीखत्महोजाताहै।नतीजतनगांवोंसेपलायनशुरूहोनेलगा।कईतोकखालीहोगए।पूर्णागिरिकाखर्राटाकइसीकाउदाहरणहैकिवहांसेलोगोंकेपलायनहोनेकेबादशिकारियोंसेइसेअपनागढ़बनालियाहै।

शुक्रहैखननमाफियाका

खननमाफियाकाशुक्रहैकियहलोगबारिशखत्महोनेकेबादनदीमेंकच्चामार्गबनादेतेहैं।जिसकारणयहलोगआसानीसेबाजारसेजुड़जातेहैं।पैदलहीसहीमगरअपनीजरूरतकासामानलेआतेहैं।

क्याकहतेहैंलोग

सरकारकीकोईयोजनानहींदिखती।अंधेरेमेंरहकरजंगलवनदीकेसहारेअपनाजीवनयापनकररहेहैं।जानवरोंसेअगरफसलमेंकुछबचताहैतोवहीखानेकोमिलताहै।

-रामसिंह,ग्रामीण

गांवमेंसबसेज्यादापानीकीदिक्कतहै।नदीसेपानीलानापड़ताहै।सिंचाईगूलसालोंसेक्षतिग्रस्तहै।नदीकेपानीसेयाफिरऊपरवालेकेभरोसेफसलहोतीहै।उसेभीजानवरखाजातेहैं।

-सुंदरसिंह,ग्रामीण

गांवमेंअबकौनरहनाचाहताहै।विकासकेनामपरकुछनहीं।अधिकारीवराजनेताहरबारआश्वासनदेकरचलेजातेहैं।हमलोगोंकोअपनादुखदर्दखुदहीबांटनापड़ताहै।बहुतसेलोगगांवछोड़करचलेगए।

-राजेंद्रसिंह,ग्रामीण

हरबारसरकारसेविकासकीउम्मीदकरतेहैं।कईचीजोंकीमांगकरतेहैं।कहतेहैंभेजदियालेकिनयहांनहींपहुंचा।रास्तेसेहीगायबहोजाताहै।हमलोगोंकोजोभीकरनाहोताहै।स्वयंहीकरनाहै।अंधेरापहलेभीथाऔरआजभी।लाइटकेलिएखंभेतोगड़ेहैंलेकिनलाइटनहीं।अबइसेहीदेखकरखुशहोलेतेहैं।

-प्रहलादराम,ग्रामप्रधान

क्षेत्रकेविकासकेलिएकईयोजनाएंस्वीकृतहैं।पूर्वमेंस्वीकृतयोजनाओंकीजांचकराईजाएगी।पानीकेलिएसोलरहैंडंपपलगाएजाएंगे।जिससेपीनेकेपानीवसिंचाईकीव्यवस्थाकीजाएगी।

=एसएसबिष्ट,सीडीओ