जर्जर नहरों से कैसे होगी गेहूं की खेती..

जागरणसंवाददाता,चंदौली:धानकेकटोरेमेंनहरोंकाजालहोनेकेबावजूदटेलकीकौनकहेहेडकेकिसानोंकोभीसिचाईकेलिएपानीनहींमिलपारहाहै।खरीफकीफसलतोजैसे-तैसेहोगई,लेकिनगेहूंकीखेतीकोलेकरअन्नदाताचितितनजरआरहेहैं।चाहेलेफ्टकर्मनाशानहरहोयाइससेजुड़ीअन्यनहरेंइनकीहालतजर्जरहै।ऐसेमेंआनेवालेदिनोंमेंकिसानोंकोपानीकेलिएजूझनापड़ेगा।

कृषिप्रधानजनपदमेंरबीकेचालूसीजनमेंएकलाखचारहजारहेक्टेअरमेंगेहूंकीखेतीहोगी।कृषिविभागकीओरसेअनुमानितचारलाखटनउत्पादनकालक्ष्यरखागयाहै।पिछलेदिनोंहुईबारिशकेकारणगेहूंकीबोआईकाकार्यपिछड़गयाहैलेकिनदिसम्बरमाहकेद्वितीयपखवारेतकबोआईकाकार्यपूर्णहोजाएगा।ऐसेमेंकिसानोंकोफसलकीसिचाईकेलिएपानीकीआवश्यकताहोगी।सुविधासम्पन्नकिसानतोनिजीसंसाधनोंसेसिचाईकाकार्यकरलेंगेलेकिननहरोंपरआश्रितकिसानोंकोपानीकेलिएजूझनापड़ेगा।कारणलेफ्टकर्मनाशानहरकईस्थानोंपरक्षतिग्रस्तहोनेकेसाथहीजलकुंभीवझाड़-झंखाड़सेपटीहुईहै।ऐसेमेंइससेजुड़ीनहरोंसेकिसानोंकेखेतोंतकपानीपहुंचनामुश्किलहोगा।नहरोंकीमरम्मतवसफाईकोखरीफकेसीजनसेहीकिसानमांगकरतेआरहेहैंलेकिनसमस्याकासमाधाननहींकियागया।किसानभूपेंद्रसिंह,राजेंद्रयादव,सियारामआदिनेकहाकिनहरोंकीमरम्मतनहींहोनेसेटेलकेकिसानोंकोपानीनहींमिलपाएगा।शिकायतकेबावजूदविभागध्याननहींदेरहाहै।

नहरोंकीसफाईवमरम्मतकोशासनकोपत्रलिखागयाहै।किसानोंकेखेतोंतकपानीपहुंचानेकापूराप्रयासकियाजाएगा।

सुरेशचंद्रआजाद,अधिशासीअभियंताचंद्रप्रभा