कागजों में बनी सड़क पर ही दौड़ा दी गाड़ी

संवादसूत्र,लंबगांव:प्रतापनगरक्षेत्रकेस्यांसू-गोदड़ी-गढवालगाडमोटरमार्गपरभलेहीगाडि़यांदौड़रहीहै,लेकिनहकीकतकुछऔरहीहै।विभागकेसरकारीधनकोठिकानेलगानेकेलिएकागजोंमेंहीसड़कबनाईगईजबकिसड़ककानिर्माणकार्यअभीकीअधूराहै।यहखुलासाआरटीआइकेतहतहुआहै।

वर्ष2006मेंलोकनिर्माणविभागनेलगभग142लाखकीलागतसेआठकिमीमोटरमार्गकानिर्माणकार्यशुरूकियाथाजोआजतकनहीबनपायीऔरसड़कअभीभीचलनेलायकनहीहै।गोदड़ीगांवकेदेवेन्द्र¨सहनेआरटीआइकेतहतसूचनाकेअधिकारअधिनियमकेतहतसूचनामांगी।जिसमेंलोकनिर्माणविभागद्वाराजबसूचनाउपलब्धकरायीतोदेवेन्द्र¨सहनेकहाविभागनेसड़कपरगाड़ियोंकाचलनादिखायागयाहै।ग्रामीणदेवेन्द्र¨सह,सुकेन्द्र¨सह,दिनेश¨सहनेकहाकिसड़कसेग्रामीणोंकीसिंचितभूमिसहितउनकीगूलोंकोनुकसानतोपहुंचाया,लेकिनविभागनेद्वारासड़कआजभीपैदलचलनेलायकनहीबनायागयाहै।जिसकीशिकायतग्रामीणदेवेन्द्र¨सह,सुकेन्द्र¨सह,दिनेश¨सहनेजिलाधिकारीटिहरीगढ़वालसेकी।जिलाधिकारीनेसंबंधितविभागकोआदेशकियागयाकिउक्तप्रकरणसेजिलाधिकारीकार्यलयकोभीअवगतकरायाजाए।उन्होंनेआरोपलगायाकिसरकारीधनकोठिकानेलगानेकेलियेकेविभागद्वाराअपनेचेहतोंकोसड़ककाकामबांटकरधनकोठिकानेलगायाहै।इससंबंधमेंअधिशासीअभियन्ताकेएसनेगीनेबतायासड़कमेंविवादहोनेकेकारणसड़ककाकार्यपूरानहींहोपायाहैउक्तसड़ककेलिएशासनकोआगणनभेजाहै।स्वीकृतिकेबादसडककानिर्माणकरदियाजाएगा।