कालपी स्टेशन पर सूखे पड़े फ्रीजर व टैंक

संवादसहयोगी,कालपी:नगरकेरेलवेस्टेशनपरयात्रियोंकोसुविधाएंमिलनातोदूरपीनेकोपानीतकनहींमिलरहाहै।टंकीमेंपानीनहींहैऔरफ्रीजरभीखराबपड़ाहै।पिछलेदोसप्ताहसेपेयजलकायहीहालहै।जिसकेकारणयात्रियोंकोमजबूरीमेंपानीखरीदकरपीनापड़रहाहै।

स्टेशनपरयात्रियोंकीप्यासबुझानेकेलिएरेलवेनेओवरहेडटैंकबनवारखाहै।पेयजलकेलियेप्लेटफार्मनंबरएकपरपानीकीदोटंकीवएकफ्रीजरभीलगाहै।पिछलेदोसप्ताहसेनतोटंकीकीटोटियोंसेपानीनहींनिकलरहाहैऔरनहीफ्रीजरसेपानीनिकलरहाह।ट्रेनकेइंतजारमेंयात्रियोंकोपानीकेलियेभटकनापड़ताहै।मजबूरीमेंलोग20रुपयेबोतलखरीदकरअपनीप्यासबुझारहेहैं।इधर,गर्मीनेभीअपनारंगदिखानाशुरूकरदियाहै,जिससेपेयजलकीडिमांडबढ़गईहै।प्लेटफार्मदोपरभीयहीहालहै।ट्रेनरुकनेकेबादलोगपानीभरनेकेलिएअपनीबोतलटंकीवफ्रीजरकीऔरदौड़तेहैंलेकिनटोटियोंकेदबानेपरजबपानीनहींनिकलतातोमायूसहोकरवापसगाड़ीमेंबैठजातेहैं।यात्रियोंनेकईबारस्टेशनमास्टरसेपेयजलउपलब्धतानहोनेकेबारेमेकहालेकिनकोईसमाधाननहींहुआ।यात्रियोंकाकहनाहैकिकर्मचारियोंकीमिलीभगतसेपानीबेचाजारहाहै।वहींस्टेशनमास्टरएसपी¨सहनेबतायाकिपेयजलकीउपलब्धताकेलियेप्रयासकियाजारहाहै।जल्दहीयात्रियोंकोपानीमिलेगाऔरपानीबेचनेमेंमिलीभगतकाआरोपगलतहै।