कैलाश मंदिर के आगे भीषण गंदगी

जागरणसंवाददाता,एटा:कैलाशमंदिरकेपाससड़कपरगंदगीकाइतनाजमावड़ाहैकिश्रद्धालुओंकानिकलनादूभरहोरहाहै।मंदिरकीओरजानेवालीसड़कपरकाफीजलभरावहै।नाले-नालियांओवरफ्लोहोनेकेकारणकीचड़युक्तपानीसड़कपरफैलरहाहै।इसकेअलावाइससड़कपरकाफीगड्ढेहैं।वाहनजबइनसेहोकरगुजरतेहैंतोसीधेगंदेपानीकेछींटेश्रद्धालुओंपरपड़तेहैं।

नवरात्रकेइनदिनोंमेंश्रद्धालुउपवासकररहेहैं।कैलाशमंदिरशहरकाप्राचीनमंदिरहै।सुबह-शामइसमंदिरमेंभक्तोंकीभीड़रहतीहै।श्रद्धालुपूजनकेलिएजातेहैंतोगंदेपानीकेछींटेपड़जातेहैं,जिससेवेखुदकोअपवित्रमहसूसकरतेहैं।यहसमस्याअबसेनहींकईवर्षोंसेचलीआरहीहै।वर्ष1988मेंकैलाशगंजकीसड़ककोबनवायागयाथा।कईबारयहसड़कक्षतिग्रस्तहुईतोपेंचवर्ककरकेकामचलादियागया।सड़ककेइर्द-गिर्दनाले-नालियांहैं,जिनकीसफाईनहींहोतीऔरइनकापानीसड़कपरआकरगड्ढोंमेंभरजाताहै।

व्यापारमंडलकेजिलाध्यक्षप्रमोदगुप्ताकाकहनाहैकिकईबारस्थानीयलोगोंनेनगरपालिकासेशिकायतकी,लेकिनकोईसुनवाईनहींहोती।अधिकारीभीइसमामलेमेंकोईपहलकरतेदिखाईनहींदेते,जबकिश्रद्धालुओंकोनिरंतरपरेशानीकासामनाकरनापड़रहाहै।अगरइससंकटकानिदाननहींकियागयातोस्थानीयनागरिकआंदोलनकेलिएविवशहोंगे।

नगरपालिकाहीनहींकोईप्रशासनिकअधिकारीइसपरध्याननहींदेरहे।जबकिकईबारलिखितशिकायतकीजाचुकीहै।इसअपेक्षासेश्रद्धालुओंकीभावनाओंकोठेसपहुंचरहीहै।

अगरशीघ्रसमस्याकासमाधाननहींकियागयातोहमलोगसड़कपरउतरआएंगे।बहुतहोचुकाअबकैलाशगंजकीइसमुख्यसमस्याकानिराकरणहरकीमतपरहोनाहीचाहिए।

नाले-नालियोंकीसफाईनहींहोती।वर्षोंसेवेओवरफ्लोचलरहेहैं।यहीवजहहैकिसड़कपरगंदापानीआजाताहैऔरश्रद्धालुओंकोमुश्किलकासामनाकरनापड़ताहै।

नगरपालिकाकेअधिकारियोंकोकैलाशगंजजाकरनिरीक्षणकरनाचाहिए।नाले-नालियोंकीअगरसमयसेसफाईहोतीरहेतोइससमस्याकाकाफीहदतकनिदानहोसकताहै।सड़कभीदुरुस्तकराईजानीचाहिए।