केदारनाथ में आपदा के छह साल बाद अब चौराबाड़ी ग्लेशियर के ऊपर बनी झील

देहरादून,जेएनएन।जून2013मेंकेदारघाटीमेंआपदाकाकारणबनीचौराबाड़ीझीलसेकरीबढाईकिलोमीटरऊपरएकऔरग्लेशियरझीलबननेकीजानकारीमिलीहै।यहझीलग्लेशियरकेऊपरबनीहै।इसबातकीजानकारीसिक्ससिग्मास्टारहेल्थकेयरवएसडीआरएफकीटीमनेदीहै।

यहटीमकेदारनाथक्षेत्रमेंस्वास्थ्यशिविरकेलिएपहुंचीथीऔरट्रेकिंगकेदौरानझीलदिखी।टीमकीओरसेलिएगएचित्रोंकाअवलोकनकरनेकेबादवाडियाहिमालयभूविज्ञानसंस्थानकेवैज्ञानिकोंनेअपनेआगामीदौरेकेतहतझीलकाभीनिरीक्षणकरनेकानिर्णयलियाहै।

वाडियाहिमालयभूविज्ञानसंस्थानकेहिमनदविशेषज्ञडॉ.डीपीडोभालनेबतायाकिजिसतरहसेइसझीलकेग्लेशियरकेऊपरबननेकीजानकारीमिलीहै।इसेसुपरग्लेशियरलेक(झील)कहाजासकताहै।ऐसीझीलहमेशाग्लेशियरकेऊपरहीबनतीहै।

उन्होंनेबतायाकिइसदफाबारिशअधिकहोनेसेग्लेशियरक्षेत्रोंमेंजमकरबर्फपड़ीहै।यहीकारणभीहैकियहझीलअस्तित्वमेंआगई।ग्लेशियरसेनिकलनेवालेमलबेवएवलान्चसेनिकलनेवालीबर्फएकत्रितहोजानेसेइसझीलबननेकीआशंकाहै।

मोटेअनुमानकेअनुसारइसकादायरा40से50मीटरहोसकताहै।हालांकि,अभीझीलकोलेकरकुछभीकहनाजल्दबाजीहोगा।इसतरहकीसुपरग्लेशियरलेकजल्दनष्टभीहोजातीहैं।क्योंकिग्लेशियरपरबनीइसतरहकीझीलबर्फकोभीतेजीसेपिघलातीहैऔरइससेपानीकोरिसनेकारास्तामिलजाताहै।

दूसरीबातयहकिग्लेशियरमेंभीलगातारबदलावहोतेरहतेहैंऔरइसकारणभीझीलबनती-बिगड़तीरहतीहैं।दूसरीतरफग्लेशियरकेनीचेयासामनेझीलतबबनतीहैं,जबग्लेशियरकेमलबेमेंआएबड़े-बड़ेबोल्डरजमाहोजातेहैं।यहझीलजल्दीसेटूटतीनहींहैंऔरइसमेंपानीएकत्रितहोतारहताहै।इसीतरहकीझीलअधिकखतरनाकभीहोतीहैं।

वरिष्ठवैज्ञानिकडॉ.डीपीडोभालनेबतायाकिवहजल्दचौराबाड़ीवडुकरानीग्लेशियरकादौराकरेंगीऔरफिरइसझीलकीप्रकृतिकाभीअध्ययनकियाजाएगा।

आपदाकाकारणबनीझीलअबखाली

केदारनाथमंदिरकेकरीबदोकिलोमीटरऊपरझीलबननेऔरफिरउसकेफटजानेसे2013मेंकेदारघाटीकीआपदानेविकरालरूपधारणकरलियाथा।क्योंकिझीलमेंजमाबड़े-बड़ेबोल्डरभीपानीकेसाथनीचेआगएथे।हालांकि,तभीइसझीलकामुहानापूरीतरहखुलगयाथाऔरइसमेंअबपानीजमानहींहोताहै।

खतरेजैसीकोईबातनहीं

एसडीआरएफकेआइजीसंजयगुंज्यालकेमुताबिक,हमारीटीमकेसदस्योंसेजोजानकारीमिलीहै,उसकेमुताबिकझीलतोबनीहै,मगरउसमेंपानीबहुतकमहै।खतरेजैसीभीकोईबातअभीतकनजरनहींआई।हमारेदलकेसदस्यनिश्चितअंतरालमेंचौराबाड़ीकादौराकरतेरहतेहैं।कुछभीअसामान्यनजरआनेपरआवश्यककार्रवाईकीजाएगी।

इसतरहकीझीलबननासामान्यघटना

आपदान्यूनीकरणऔरप्रबंधनकेंद्रउत्तराखंडकेअधिशासीनिदेशकपीयूषरौतेलानेबतायाकिग्लेशियरोंमेंइसतरहकीझीलोंकाबननासामान्यघटनाहै।देखनेवालीबातयहहोगीकिझीलकितनेसमयतकबनीरहतीहैऔरइसमेंकितनापानीजमाहोताहै।इसपरनिगरानीरखीजाएगीऔरकुछभीसंवेदनशीललगनेपरविशेषज्ञोंकेमाध्यमसेकार्रवाईकीजाएगी।रुद्रप्रयागजिलाप्रशासनसेभीअपडेटलियाजारहाहैऔरफिलहालझीलकोछेड़ानहींजारहाहै।

यहभीपढ़ें:मंदाकिनीनदीकारुखमोड़कराईजारहीकेदारनाथयात्रा,बरसातसेबहसकताहैहाईवेकायहहिस्‍सा

यहभीपढ़ें:आपदाकेछहवर्षबादपूरीतरहबदलगईकेदारपुरी,उमड़ारहायात्रियोंकासैलाब

यहभीपढ़ें:ChardhamYatra:इसबारनएकीर्तिमानगढ़रहीकेदारनाथयात्रा

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप