केंद्र में है पूंजीपतियों की सरकार: विधायक

हसपुरा(औरंगाबाद)।किसानआंदोलनकेसमर्थनवतीनोंकृषिकानूनोंकेविरोधमेंगुरुवारकोमहागठबंधनकेनेतृत्वमेंप्रखंडकार्यालयकेसमक्षएकदिवसीयधरनादियागया।राजद,कांग्रेस,वामदलोंकेनेतागणशामिलथे।राजदविधायकभीमसिंहयादववपूर्वविधायकरवींद्रसिंहनेकहाकिकेंद्रकीमोदीसरकारकिसानों,गरीबोंकीनहींबल्किपूंजीपतियोंकीसरकारहै।यहसरकारधर्मकेनामपरराजनीतिकरकिसानवआमजनताकोमूर्खबनारहीहै।जिलापार्षदप्रतिनिधिरामाश्रयसिंह,पूर्वप्रमुखलालबाबूसिंहयादव,रामायोध्यापांडेय,राजदप्रखंडअध्यक्षसत्येंद्रयादव,पैक्सअध्यक्षसचिनकुमार,सत्येंद्रकुमार,रामएकबालसिंहनेकहाकिइसकानूनकेलागूहोनेसेकिसान,मजदूरहीनहींबल्किभिखारीबनजाएंगे।नेताओंनेकहाकिसरकारकिसाननेताओंपरफर्जीमुकदमाकरकेआंदोलनकारियोंकोजेलभेजनाचाहरहीहै।वक्ताओंनेकहाकिइतिहासगवाहहैकिजिसकिसीनेभीसताकेदंभमेंलाठी,गोली,केसमुकदमाएवंजेलमेंडालकरआंदोलनकोखत्मकरानाचाहाहै,वैसीतानाशाहसरकारोंकोअर्शसेफर्शपरआतेजराभीदेरनहींलगीहै।महागठबंधनकेनेतामिथिलेशयादव,लोरिकयादव,मुखियाचन्द्रशेखरसिंह,नागेश्वरयादव,मुन्नायादव,गयासिंह,भोलाराम,सनातनशर्मा,कामाख्यानारायणसिंह,कैलाशचंदेल,रामयोध्यापांडेय,झलकदेवयादव,भोलाराम,रामविलासयादवसमेतदर्जनोंनेताओंनेकृषिकानूनकोवापसलेनेकीमांगकी।कहाकिजबतककानूनवापसनहींलिएजाएंगे,आंदोलनचलेगा।इसदौरानजिलेकेअधिकारियोंपरभीनेताबरसे।कहाकिसमयकेसाथअधिकारीअपनेकार्योंमेंसुधारलाएंऔरजनताकाकार्यतुरंतनिष्पादनकरें।