खाद्य पदार्थों में 98 फीसद नमूनों में मिली मिलावट

अंबेडकरनगर:सुरक्षितखानपानकोलेकरबेहदचौकन्नारहनेकीजरूरतहै।वजहखाद्यसुरक्षाविभागकेआंकड़ेचौंकानेवालेहैं।बाजारसेखरीदारीऔरइसेप्रयोगकरनेसेपहलेपरखनाआवश्यकहै।विभागकीओरसेसंदेहकेआधारपरसंकलितकिएगए98फीसदनमूनोंकीप्रयोगशालाजांचकरानेपरमिलावटमिलीहै।इसकेअलावाकरीब18नमूनोंकीजांचमेंखाद्यपदार्थअसुरक्षितमिलेहैं।इसेमानवजीवनकेलिएखतरामानागयाहै।आरोपितोंपरमुकदमादर्जकरानेकेसाथहीअर्थदंडकाचाबुकभीचलरहाहै।

मिलावटकीकरिएपहचान:दूधकीमिलावटपरखनेकेलिएआधाकपदूधमेंबराबरकीमात्रामेंपानीमिलानेपरझागबनेतोइसमेंडिटर्जेंटमिलाहै।हथेलियोंकेबीचरगड़नेपरसाबुनजैसालगेतोसिथेटिकदूधहै।दूधमेंकुछबूंदेंआयोडीनटिचरअथवाआयोडीनसॉल्यूशनकीडालनेपररंगनीलापड़ेतोइसमेंस्टार्चहै।मावाकोउंगलियोंसेमसलनेपरदानेदारलगेतोमिलावटीहै।घीमेंआयोडीनटिचरमिलानेपररंगनीलापड़जाएतोइसमेंआलूयाशकरकंदमिलाहै।

रंगऔरचमकसेरहिएसावधान:बाजारमेंबिकनेवालेखाद्यपदार्थोंमेंचमकवरंगसेसावधानरहनेकीजरूरतहै।चांदीकेस्थानपरएल्यूमीनियमकीपरतहोनेसेयहआंतोंकोनुकसानपहुंचासकतीहै।कैंसरजैसेरोगकोजन्मदेसकतीहै।यहीहालअखाद्यरंगोंकाभीहै।

आंकड़ेदेतेगवाही:बाजारोंमेंमिलावटी,अधोमानकऔरअसुरक्षितखाद्यपदार्थोंकीबिक्रीहोनेकीगवाहीखाद्यसुरक्षाविभागकीकार्रवाईकेआंकड़ेदेनेकोकाफीहैं।पिछलेवित्तीयवर्षमें2258निरीक्षणतथा258छापेमारीमें266नमूनेसंकलितहुएथे।प्रयोगशालामेंजांचकरानेपर98फीसदनमूनेमिलावटी,अधोमानकऔरअसुरक्षितमिले।इसमेंसर्वाधिकदूधसेबनेपदार्थोंकेअलावानमकीन,ड्राईफ्रूटआदिशामिलहैं।कुल248मुकदमेदायरहुएथे।इसमेंसे207कानिर्णयहोनेकेबादआरोपितपर25लाख37हजाररुपयेअर्थदंडलगायागया।18मुकदमेअभीविचाराधीनहैं।मौजूदावित्तीयवर्षमें650निरीक्षणऔर19छापेमारीमें18नमूनेलिएगए।वहींपहलेलिएगएनमूनोंकीमिली96जांचरिपोर्टमें48अधोमानक,दोअसुरक्षित,33मिथ्याछापसमेतकुल83खाद्यपदार्थमानककेविपरीतरहे।

बाजारमेंसुरक्षितखाद्यपदार्थोंकीबिक्रीसुनिश्चितकरनेकेलिएनियमितनिगरानीचलरहीहै।गड़बड़ीकरनेवालोंकेखिलाफदंडात्मककार्रवाईहोतीहै।जनमानसकोसजगरहतेहुएगड़बड़ीकीशिकायतकरनीचाहिए।विभागहमेशामददकेलिएतैयारमिलेगा।

राजवंशप्रकाशश्रीवास्तव

जिलाअभिहीतअधिकारी