कहीं फूटे पटाखे तो कहीं पसरा सनाटा

संवादसूत्र,नाभा(पटियाला):नाभासेलगातार20सालसेकांग्रेसपार्टीकेप्रत्याशीजीततेआरहेहैं।इनमेंहलकाअमलोहसेकाकारणदीपसिंहदोबारऔरदोबारहीपूर्वकैबिनेटमंत्रीसाधुसिंहधर्मसोतअपनीजीतदर्जकरारहेथे।लेकिनइसबारलोगोंनेबड़े-बड़ेपार्टीनेताओंकोशिकस्तदीजिससेसाफपताचलताहैकिलोगबदलावचाहतेथेजोकिउन्होंनेअपनेवोटकाइस्तेमालकरतेहुएकियाभी।पिछलीबारजबकांग्रेसप्रत्याशीसाधुसिंहधर्मसोतजीतेथेतोउनकाकैबिनेटमेंजानातयथाऔरहुआभीवही।उससमयउनकीनाभास्थितरिहायशमेंकांग्रेसवर्करोंकीभीड़समेतकईअधिकारीमिलनेपहुंचेथे।इसबारउनकीकरारीहारसेउनकीरिहायशमेंसन्नाटादिखा।उधर,आमआदमीपार्टीकेप्रत्याशीगुरदेवसिंहदेवमानकीशानदारजीतपरवार्डनंबर20सेआपकीटिकटपरपार्षदकाचुनावलड़ेराजेशगर्गडिपलनेचौकदेवीदयालामेंपटाखेछोड़े।