कहीं सामुदायिक भवन तो कहीं घर से पानी लाकर बन रहा एमडीएम

बांका।सरकारीस्कूलोंमेंपानीकेअभावमेंएमडीएमकीस्थितिठीकनहींहै।लाचाररसोइयाकिसीकेघरसेयादोकिलोमीटरदूरसेपानीलेकरएमडीएमबनानेकोविवशहोरहींहै।जबकिसरकारीस्कूलोंमेंलगेचापाकलपानीनहींदेरहाहै।धोरैयामेंपानीभीदेताहैतोआयरणयुक्तरहनेसेपीनेलायकनहींरहताहै।गुरुवारकोजबजागरणनेइसकीपड़तालकीतोयहबातसामनेआई।

बेलहरमेंचापाकलसेनिकलताहैकीड़ा:

प्रखंडक्षेत्रकाकरीबएकदर्जनविद्यालयचापाकलखराबरहनेसेपेयजलसंकटकीमारझेलरहाहै।जिसकारणएमडीएमसंचालनमेंभीकाफीकठिनाईहोतीहै।एमडीएमबनानेकेलिएरसोइयाकोगांवसेपानीढोकरलानापड़ताहै।गुरुवारकोप्रोन्नतमध्यविद्यालयकाशीडीहमेंसुबहछहबजेरसोइयास्कूलपहुंचगईथीं।साफसफाईबादसाढ़ेछहबजेबाल्टीडब्बालेकरकरीबदोसौमीटरदूरगांवकेएकघरपानीलानेचलीगई।7:05बजेरसोइयापानीलेकरवापसलौटी।प्रधानशिक्षकरविद्रसिंहनेबतायाकिस्कूलप्रांगणमेंरहेचापाकलकेपानीसेकीड़ानिकलताहै।पेयजलकेलिएउक्तचापाकलकेपानीकाउपयोगनहींकियाजाताहै।स्कूलप्रांगणमेंहीआंगनवाड़ीकेंद्रसंख्या58भीसंचालितहोताहै।वहींएनपीएसपूर्णाडीहस्कूलचापाकलविहीनहै।वहांभीएमडीएमसंचालनसेलेकरपेयजलआपूर्तितकबाहरसेपानीढोकरलाकरकरनापड़ताहै।

धोरैयाकेस्कूलीबच्चोंवग्रामीणोंकीएकचापाकलसेबुझतीहैप्यास:

दर्जनोंसरकारीस्कूलोंमेंबच्चोंकीप्यासआयरनयुक्तदूषितजलपीकरबुझरहीहै।जिससेउनकेस्वास्थ्यपरआयेदिनबुराप्रभावपड़सकताहै।समयसुबह8:45बजेकन्यामध्यविद्यालयखगड़ामेंरसोइयाज्ञानमंडल,ललितादेवी,किरणदेवीबच्चोंकामध्याह्नभोजनबनानेकेलिएस्कूलकेबाहरगांवसेपानीलाकरखानाबनानेजारहीथीं।प्रधानाध्यापकप्रदीपकुमारनेकहाकिविद्यालयपरिसरमेंएकनहींबल्कितीनचापाकलहै।सभीकेसभीखराबपड़ेहुएहै।पीएचईडीविभागसेशिकायतपरमिस्त्रीआया।लेकिनवहभीचापाकलकोठीकनहींकरपायाहै।जिसकेकारणरसोइयाकोबाहरसेपानीलेकरबच्चोकोभोजनकेसाथसाथउन्हेंपानीपिलानापड़रहाहै।वहीं,मिडिलस्कूलबटसार8:59मेंभीसभीचापाकलकेखराबरहनेएवंपानीनहींनिकलनेसेपरेशानप्रधानाध्यापकगोपालरजकसीमेंटकीटंकीकानिर्माणकरारखाहै।लेकिनआंधीकेदौरानबिजलीकेदोतीनदिनोंतकठपरहनेसेपानीकीआपूर्तिनहींहोरहीहै।जबकि9:05मिनटपरप्राथमिकविद्यालयअस्सीमेंबच्चेपढ़ाईकररहेथेऔररसोइयाएमडीएमबनारहीथी।प्रभारीप्रधानाध्यापिकापुष्पादेवीनेबतायाकिमहजएकचापाकलहै।जबकिउर्दूमध्यविद्यालयसगुनियामें9:25बजेमध्याह्नभोजनएवंबच्चोंकेपेयजलकेबारेमेंपूछनेपरप्रधानाध्यापकशाहिदपरवेजखाननेबतायाकिमहजएकचापाकलचालूअवस्थामेंहै।उसकाभीपानीअधिकआयरनकेकारणपीनेलायकनहींहै।जिससेरसोइयाकोपंचायतभवनसेपानीलेकरखानाबनानापड़ताहै।प्रोन्नतमध्यविद्यालयगोनरचकसमय9:49बजेयहांभीपानीकीकिल्लतपाईगई।महजएकचापाकलसेस्कूलकेसाथ-साथग्रामीणोंकीभीप्यासबुझतीहै।प्रधानाध्यापकराजीवकुमारनेबतायाकिआयरनकीमात्राअधिकरहनेसेकिसीतरहइसीपानीसेप्यासबुझरहीहै।जबकिप्राथमिकविद्यालयचकमथुरामेंसमयसुबह10:07परपहुंचनेपरचारचापाकलमेंतीनखराबपायागया।प्रभारीप्रधानाध्यापकविश्वनाथमंडलनेबतायाकिचालूचापाकलकेपानीमेंआयरनकीमात्राअधिकहै।बच्चोंकेस्वास्थ्यकेलिएलाभदायकनहींहै।उच्चविद्यालयबटसारमेंकरीब600बच्चोंकीप्यासमहजएकचापाकलकेभरोसेबुझरहीहै।यहांपानीकेलिएबच्चोंकीभीड़लगजातीहै।प्रधानअनिलकुमारदीक्षितनेऔरचापाकललगानेपरबलदियाहै।

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप