कई प्रतिभाओं को तराश चुका है मध्य विद्यालय ¨कजर

अरवल।स्थानीयबाजारमेंसंचालितमध्यविद्यालय125वींस्थापनादिवसमनानेकीतैयारीमेंहै।इसविद्यालयसेजुड़ेलोगोंकोविद्यालयकेइतिहासपरफक्रमहसूसहोरहाहै।यहांसेपढ़करनिकलेकईविद्यार्थीआजऊंचेओहदेपरपहुंचेहुएहैं।ऐसेमेंविद्यालयकर्मियोंकेसाथ-साथस्थानीयलोगोंकोविद्यालयकी125वींवर्षगांठधूमधामसेमनानेकीइच्छाहै।इसेलेकरवेलोगस्थानीयसांसदडॉअरूणकुमारसेमिलकरसमारोहकोएतिहासिकबनानेमेंसहयोगकीअपीलकरचुकेहैं।स्थानीयलोगोंकीमानेंतोउनलोगोंकाप्रयासहैकिसमारोहमेंमुख्यमंत्रीयाराज्यपालकोआमंत्रितकियाजाए।1930मेंइसविद्यालयकोमध्यविद्यालयकेरूपमेंअपग्रेडकियागयाथा।इससेपूर्वप्राथमिकविद्यालयकेरूपमेंइलाकेमेंशिक्षाकाअलखजगायाजारहाथा।सामाजिककार्यकर्ताराजेश्वर¨सहनेबतायाकिइसविद्यालयकाइतिहासकाफीगौरवशालीरहाहै।कईपीढ़ीकेलोगयहांसेशिक्षाप्राप्तकरचुकेहैं।वर्तमानसमयमेंभीइसविद्यालयमेंएकहजारचारसौबच्चेनामांकितहैं।विद्यालयकेप्राचार्यबालेश्वर¨सहनेबतायाकिइसविद्यालयकाशैक्षणिकवातावरणस्थानीयलोगोंकेसहयोगसेबेहतररहरहाहै।हमलोगोंकाहमेशाप्रयासरहताहैकियहांपढ़नेवालेछात्र-छात्राओंकोगुणवतापूर्णशिक्षाउपलब्धहोसके।