किसी काम की नहीं टंकियां, पुराने ढंग पर पानी की सप्लाई

जागरणसंवाददाता,होशियारपुर:गर्मीकेप्रचंडरूपधारणकरतेहीबिजलीकीआंखमिचौलीशुरूहोजातीहै।बिजलीगुलहोतेहीशहरकीटूटियांसूखजातीहैं।इससेपानीकेलिएकिल्लतखड़ीहोनेलगतीहै।जूनमेंशहरमेंपानीकीसमस्याअकसरगंभीरहोतीरहतीहै।कईबारतोआलमयहहोताहैकिलोगपानीकेलिएसड़कपरउतरकरपसीनाबहातेनजरआतेहैं।इसकाकारणपुरानेढंगकेसिस्टमकोअपडेटनकरनाहै।शहरकोनगरपरिषदसेनगरनिगमकादर्जाजरूरमिलगयाहै,परदुखदपहलूयहहैकिपेयजलसप्लाईकीव्यवस्थापुरानेढर्रेपरहीचलरहीहै।जनताकोनिर्विघ्नपानीसप्लाईकेलिएसाढ़ेतीनदशकपहलेसीवरेजबोर्डकीओरसेकरीबदसटंकियांबनाईगईथी।योजनाथीकीकिपानीकीसप्लाईइनटंकियोंकेमाध्यमसेहोगी।लेकिनअफसरशाहीकीसुस्तीसेपानीकीटंकियांमहजसफेदहाथीबनकररहगईहैं।इतनासमयबीतजानेकेबादइनमेंकनेक्शननहींदिएगए।लाखोंरुपयेखर्चकरकेभीजनताकोकोईफायदानहींमिला।

84ट्यूबवेलोंकेसहारे1.67लाखआबादी

शहरकी1.67लाखआबादीकोपानीकीसप्लाईनगरनिगमसीधेट्यूबवेलोंकासहारालेकरकररहाहै।84ट्यूबवेलोंकोआपसमेंजोड़ागयाहै।सुबह-शामट्यूबवेलोंकोचलाकरपानीकीसप्लाईकीजातीहै।इसव्यवस्थासेसप्लाईउससमयबंदहोजातीहै,जबबिजलीगुलहोजातीहै।मोटरकेबंदहोतेहीशहरमेंपानीकेलिएहाहाकारमचजाताहै।आमतौरपरगर्मियोंमेंसुबहशामबिजलीकटलगताहै।इससेघरोंमेंपानीकीसप्लाईनहींहोतीऔरलोगसड़कोंपरउतरनेकेलिएविवशहोजातेहैं।

गंभीरनहींदिखरहाहैनगरनिगम

विडंबनाहैकिहरसालगर्मियोंकेमौसममेंयहसमस्यामुंहबाएंखड़ीहोतीहै,लेकिननगरनिगमभीइसप्रतिगंभीरतानहींदिखारहा।जबकिथोड़ासाप्रयासकरकेटंकियोंकेमाध्यमसेपानीकीसप्लाईदीजासकतीहै।ऐसाहोनेसेबिजलीजानेकीसूरतमेंनटूटियांसूखेंगीऔरनहीलोगपानीकेलिएसड़कोंपरपसीनाबहानेपरमजबूरहोंगे।

अधिकारियोंसेलीजाएगीसलाह:मेयरशिदा

नगरनिगमकेमेयरसुरिदरकुमारशिदानेकहाकिफिलहालगर्मियोंमेंपानीकीकिल्लतकोदेखतेहुएमोटरेंखरीदकररिजर्वरखीगईहैंताकिमोटरखराबहोनेपरपानीकीकिल्लतनहो।जहांतकटंकियोंकीबातहैतोवहअधिकारियोंकेसाथबैठककरकेइसकेउपयोगकीसलाहलेंगेकिक्याकियाजासकताहै।