कोरेगांव भीमा प्रकरण: न्यायालय ने महाराष्ट्र की याचिका पर सुनवाई तीन दिसंबर के लिये स्थगित की

नयीदिल्ली,16नवबंर(भाषा)उच्चतमन्यायालयनेकोरेगांवभीमामामलेकीजांचपूरीकरनेकीअवधिबढ़ानेकाआदेशनिरस्तकरनेसंबंधीबंबईउच्चन्यायालयकेफैसलेकोचुनौतीदेनेवालीमहाराष्ट्रसरकारकीअपीलपरशुक्रवारकोसुनवाईतीनदिसंबरकेलियेस्थगितकरदी।प्रधानन्यायाधीशरंजनगोगोई,न्यायमूर्तिसंजयकिशनकौलऔरन्यायमूर्तिकेएमजोसेफकीपीठनेइसमामलेकीसुनवाईस्थगितकीताकिराज्यसरकारअपनाप्रत्युत्तरदाखिलकरसके।शीर्षअदालतने29अक्टूबरकोमहाराष्ट्रपुलिसकोकोरेगांवभीमाहिंसामामलेमेंएकदिसंबरतकआरोपपत्रदाखिलकरनेकावक्तदियाथा।पुणेकीविशेषअदालतनेआरोपपत्रदाखिलकरनेकी90दिनकीअवधिदोसितंबरकोखत्महोनेपरराज्यपुलिसकेअनुरोधपरयहसमय90दिनकेलियेऔरबढ़ादियाथा।पुणेपुलिसनेइसमामलेमेंवकीलसुरेन्द्रगडलिंग,नागपुरविश्वविद्यालयकेप्रोफेसरशोमासेन,दलितकार्यकर्तासुधीरधावले,कार्यकर्तामहेशराउतऔरकेरलनिवासीरोनाविल्सनकोमाओवादियोंकेसाथकथितसंबंधोंकेकारणगैरकानूनीगतिविधयां(रोकथाम)कानूनकेतहतजूनमेंगिरफ्तारकियाथा।बंबईउच्चन्यायालयनेविशेषअदालतकायहआदेशनिरस्तकरदियाथा।महाराष्ट्रसरकारनेइसआदेशकेखिलाफअपीलशीर्षअदालतमेंदायरकररखीहै।