कर्नाटक: बहुमत परीक्षण से पहले बोले कांग्रेस के डिप्टी सीएम- नहीं दी है 5 साल समर्थन की गारंटी

उपमुख्यमंत्रीनेकहा,‘इसमुद्देपरफिलहालचर्चाहोनाऔरआखिरीफैसलालियाजानाबाकीहै।हमारापहलामकसदशक्तिपरीक्षणमेंबहुमतसाबितकरनाहै।इसकेबादविभागोंकाबंटवाराऔरअच्छाशासनदेनाहै।सीएमपदसाझाकरनेऔरअन्यमुद्दोंपरअभीफैसलालियाजानाबाकीहै।’जीपरमेश्वरप्रदेशकांग्रेसअध्यक्षभीहैं।वहडिप्टीसीएमपदकीशपथलेनेकेबादपहलीप्रेसकॉन्फ्रेंसकररहेथे।इसदौरानपूछेगएएकसवालकेजवाबमेंउन्होंनेयहटिप्पणीकी।राजनीतिकजानकारमानतेहैंकिबीजेपीकोसत्तासेदूररखनेकेलिएभलेहीजेडीएसऔरकांग्रेसनेहाथमिलालियाहो,लेकिनदोनोंपार्टियोंकेबीचकीदरारअभीसेनजरआनेलगीहै।कुछकामाननाहैकियहबयानजेडीएसकेसाथगठबंधनकरनेसेनाराजकुछकांग्रेसीनेताओंकोखुशकरनेकेलिएदियागयाहै।

अभीविभागोंकेबंटवारेकोलेकरभीदोनोंपार्टियोंमेंमतभेदउभरनेकीआशंकाहै।दरअसल,कांग्रेसज्यादाविधायकहोनेकेबावजूदसीएमपदजेडीएसकोदेनेकेबदलेअहमविभागोंपरदावाकररहीहै।वहीं,कुमारस्वामीसीएमपदशेयरकरनेकीसंभावनाओंकोखारिजकरचुकेहैं।कुमारस्वामीकीपार्टीजेडीएसकेपासमहज37विधायकहीहैं।सीएमपदसंभालनेकेबादकुमारस्वामीनेकहा,‘हमाराएकमात्रमकसदइसेगठजोड़कोएकआदर्शगठबंधनबनानाहै।मेरेकार्यकालऔरसरकारनिर्माणसेजुड़ीअन्यऔपचारिकताओंपरबैठकहोनीहै।’