मामौर झील के निरीक्षण को पहुंची केंद्र सरकार की टीम

शामली,जेएनएन।कैरानाक्षेत्रमेंबरसातमेंओवरफ्लोहोनेकेकारणकिसानोंकीफसलोंकीतबाहीकीवजहबनीमामौरझीलकापानीजल्दहीसीवेजट्रीटमेंटप्लांटलगाकरसिचाईयोग्यबनायाजाएगा।शनिवारकोकेंद्रसरकारकेनमामिगंगेप्रोजेक्टकेतकनीकीविशेषज्ञोंनेझीलकागहनतासेनिरीक्षणकिया।झीलकेपानीकासैंपलभीलियागया।

शनिवारकोकेंद्रसरकारकेनमामिगंगेकेतहतनियुक्ततकनीकीविशेषज्ञप्रोफेसरडॉ.आबिदखानवडॉ.प्रवीणकुमारनेअधिशासीअभियंताकेकर्मचारियोंकेसाथक्षेत्रकेगांवमामौरमेंस्थितझीलकानिरीक्षणकिया।उन्होंनेझीलकेपानीसेप्रभावितहोनेवालेकिसानोंसेबातकरतेहुएझीलकेक्षेत्रफलकीजानकारीहासिलकी।किसानोंनेबतायाकिझीलखासकाक्षेत्र90बीघाथा,लेकिनकैरानासेबड़ेनालोंद्वाराआनेवालेगंदेपानीवबरसातकेचलतेझीलकाक्षेत्रकाफीबढ़गयाहै।जिससेबरसातकेदिनोंमेंझीलहरसालओवरफ्लोहोकरटूटजातीहै।जिसकेकारणकिसानोंकीसैंकड़ोंबीघाफसलपानीमेंसमाजातीहै।जिससेकिसानोंकोभारीनुकसानकासामनाकरनापड़ताहै।वहीउन्होंनेझीलकेगंदेपानीकासैंपलभीलिया।उसकेबादउन्होंनेकरीब4घंटे24मिनटतकझीलकागहनतासेनिरीक्षणकरतेहुएसीवेजट्रीटमेंटप्लांटलगानेकीजगहचिन्हितकी।उन्होंनेबतायाकिझीलकेनिकटसीवेजट्रीटमेंटप्लांटस्थापितकियाजाएगा।उसकेबादपानीकोशुद्धकरकेप्रयोगकेलानेयोग्यबनायाजाएगा।इसदौरानजलनिगमकेअधिशासीअभियंताआरकेजैनवजूनियरइंजीनियरसौरभत्यागीमौजूदरहे।गंदेनालेकाभीकियानिरीक्षण

तकनीकीविशेषज्ञोंनेकैरानासेजानेवालेगंदेपानीकेनालेकाभीनिरीक्षणकिया।उन्हेंदेखाकीनालेकापानीपहलेपंजीठतालाबमेंतथावहांसेमामौरझीलमेंजाताहै।जिसकेकारणमामौरझीलऑवरफ्लोहोकरटूटजातीहै।

वाटरट्रीटमेंटप्लांटबनानेकीयोजना

अधिकारियोंनेबतायाकिमवींवमामौरकेपाससीवेजट्रीटमेंटप्लांटलगाकरपानीकोशुद्धकरकेप्रयोगकेलिएबनायाजाएगा।वहीं,उन्होंनेबतायाकिझीलकीरिपोर्टउच्चाधिकारियोंकोसौंपीजाएगी।सरकारकीअनुमतिकेबादसीवरेजट्रीटमेंटप्लांटलगायाजाएगा।उससेपहलेप्लांटकेलिएकुछकिसानोंकीभूमिचिह्नितकरकेखरीदीजायेगी।