मार्ग में भरा जलभराव रोज बर्तनों में भरकर साफ करते हैं बस्ती रेंहटा के 30 परिवार

संवादसहयोगी,बाजपुर:पानीनिकासीकीउचितव्यवस्थानहोनेकेकारणनईबस्तीरेंहटामेंनिवासरतकरीब30परिवारइसकोरोनामहामारीकेबीचनरकीयजीवनजीवनजीरहेहैं।इतनाहीनहींघरोंकागंदापानीबर्तनोंमेंभरकरलगभग100मीटरदूरफेंकनेकोमजबूरहैं।बारिशकेदिनोंमेंतोदोसेतीनफिटपानीजमाहोनेसेकॉलोनीमेंजलभरावकीसमस्याउत्पन्नहोजातीहै।आक्रोशितमोहल्लेवासियोंनेमार्गमेंजमाकीचड़वगंदेपानीकेसमक्षखड़ेहोकरविरोधस्वरूपप्रदर्शनकरसमस्यासमाधानकीमांगकीहै।

शुक्रवारकोकॉलोनीकीकुछमहिलाओंवपुरुषोंनेविकरालहोतीजारहीइससमस्याकेसमाधानकेलिएआवाजउठानेकानिर्णयलियाजिसमेंमौकेपरजमाकीचड़वगंदेपानीकेसमक्षखड़ेहोकरविरोधस्वरूपप्रदर्शनकियागया।उनकाकहनाथाकिपिछलेकईवर्षोंसेयहसमस्याबनीहुईहै।पूर्वमेंतोपानीनजदीकहीस्थितएकखेतमेंचलाजाताथा,लेकिनपिछलेसालखेतस्वामीनेदीवारखड़ीकरदीजिससेसारागंदापानीसड़कपरहीजमाहोरहाहैऔरमोहल्लेवासीदुर्गंधयुक्तवातावरणमेंरहनेकोमजबूरहोरहेहैं।उनकाकहनाथाकिइससमस्याकेसमाधानकेलिएवहलोगग्रामप्रधानसेलेकरअन्यजनप्रतिनिधियोंवप्रशासनिकअधिकारियोंतकगुहारलगाचुकेहैं,लेकिनअभीतककहींपरभीउनकीसुनवाईनहींहुईहै।कोरोनाकालकोदेखतेहुएमार्गपरकीचड़नहोइसकेलिएमजबूरनअपनेघरोंकागंदापानीबर्तनोंमेंभरकरकरीब100मीटरदूरफेंकनापड़रहाहै,लेकिनबारिशकेदिनोंमेंकॉलोनीमेंजलभरावहोजाताहै।उन्होंनेसमस्यासमाधानकेलिएशासन-प्रशासनसेगुहारलगाईहै।इसमौकेपरशीलादेवी,कमलेशदेवी,रामवतीदेवी,पार्वतीदेवी,रजनी,श्यामा,सुंदरी,क्रांति,पारो,रामबहादुरआदिमौजूदथे।