मध्य प्रदेश कांग्रेस में बदले जा सकते हैं 20 जिलों के अध्‍यक्ष, नए चेहरे सामने आने की उम्‍मीद

धनंजयप्रतापसिंह,भोपाल।विधानसभाउपचुनावमेंपराजयकेबादपिछलेकुछसमयसेमध्‍यप्रदेशकांग्रेसमेंउथलपुथलजारीहै।कांग्रेसमेंयुवानेताओंकीकमीहोतीजारहीहै।ऐसेमेंमध्यप्रदेशकांग्रेसमेंआनेवालेदिनबड़ेबदलावहोसकतेहैं।दरअसल,प्रदेशाध्यक्षकमलनाथनएचेहरोंकोमौकादेनेकेसाथपुरानेदिग्गजोंकासमायोजनकरप्रदेशमेंपार्टीकीनईटीमखड़ीकरनेकीतैयारीमेंहैं।

स्थानीयनिकायसेलेकरविधानसभाचुनावकोकेंद्रमेंरखकरहोंगेबदलाव

इसव्यापकबदलावकेकेंद्रमेंस्थानीयनिकायसेलेकरविधानसभातककेचुनावहैं।बेअसरसाबितहुएतीनोंकार्यकारीप्रदेशाध्यक्षोंकोहटायाजासकताहै,वहीं20जिलोंमेंअध्यक्षपदपरनएचेहरेसामनेआनेकीउम्मीदहै।खासबातयहभीहैकिकमलनाथइसबदलावमेंऐसेलोगोंकीबड़ेपैमानेपरछुट्टीकरसकतेहैं,जोबैनर,पोस्टर,होर्डिगऔरगणेशपरिक्रमाकेचलतेलंबेसमयसेप्रमुखपदोंपरकाबिजहैं।विधानसभाउपचुनावमेंहारकीबड़ीवजहऐसेलोगोंकोहीमानागयाहै।

कमलनाथकाफोकसअबमध्यप्रदेशपर

दरअसल,कांग्रेसकेराष्ट्रीयसंगठनमेंबदलावमईतकटालदिएगएहैं।ऐसेमेंपूर्वमुख्यमंत्रीकमलनाथकाफोकसअबमध्यप्रदेशहीरहेगा।मई2018मेंप्रदेशकांग्रेसअध्यक्षबनाएजानेकेबादकमलनाथनेअच्छाप्रदर्शनकिया।दिसंबर2018मेंमध्यप्रदेशमें15सालबादउनकेनेतृत्वमेंकांग्रेसकीसरकारबनी।

इसदौरानकांग्रेसकेकईधड़ेसियासीपरिदृश्यमेंकमजोरपड़तेचलेगए,वहींकमलनाथऔरदिग्विजयसिंहप्रदेशकांग्रेसकाचेहराबनगए।इसबीचपिछलेवर्षमार्चमेंज्योतिरादित्यसिंधियाकेपार्टीछोड़देनेकेबादकमलनाथसरकारगिरगई।इसकेबादहुएउपचुनावमेंभीकमलनाथहीप्रदेशकांग्रेसकाचेहरारहे,लेकिनहारकीवजहकांग्रेसकाकमजोरसांगठनिकढांचामानागया।

कांग्रेसकोहरस्तरपरमजबूतकरनेकीकवायद

कमलनाथप्रदेशअध्यक्षकेसाथविधानसभामेंनेताप्रतिपक्षभीहैंऔरकईबारसार्वजनिकरूपसेकहचुकेहैंकिवेमध्यप्रदेशछोड़करकहींजानेवालेनहींहैं।आनेवालेदिनोंमेंप्रदेशमेंस्थानीयनिकायोंकेचुनावहोंगे,वही2023मेंविधानसभाऔर2024मेंलोकसभाकेचुनावहैं।इनमेंपार्टीकासीधामुकाबलाभाजपासेहोनातयहै,जोसंगठनस्तरपरकांग्रेसकेमुकाबलेअधिकसक्रियऔरमजबूतहै।

कमलनाथइसबातकोसमझतेहैं,इसलिएवेकांग्रेसकोहरस्तरपरमजबूतकरनेकीकवायदशुरूकरचुकेहैं,जिसकाप्रभावजल्दहीपूरेमध्यप्रदेशमेंदिखाईदेगा।वैसेकमलनाथकीराहमेंकईचुनौतियांभीहैं।उन्हेंसंगठनमेंनएचेहरोंऔरपुरानेदिग्गजोंकेबीचसंतुलनभीबनानाहै।दूसरीतरफकेंद्रीयप्रत्यक्षकरबोर्ड(सीबीडीटी)कीरिपोर्टसेलगेछींटेभीउलझनपैदाकरेंगे।