मील के पत्थर पर हो शहीदी धरती का नाम अंकित

जागरणसंवाददाता,धानापुर(चंदौली):शहीदीधरतीधानापुरकीपहचानदेशवविदेशोंतकहै।कारणयहांकेवीरसपूतोंनेतिरंगेकीआन,बानऔरशानकेलिएअपनेप्राणोंकोन्योछावरकरदियाथा।लेकिनलोकनिर्माणविभागकोशायदइसशहीदीधरतीकेशहीदोंसेकुछलेनादेनानहींहै।यहीकारणहैकिबाबतपुरसेजमानियातकलगभगसौकिमीकीदूरीमेंरास्तोंकेमीलकेपत्थरपरकहींधानापुरकानामअंकितनहींहै।कस्बानिवासीअरविदमिश्रानेइसकासंज्ञानलियाऔरउन्होंनेलोकनिर्माणविभागउत्तरप्रदेशकोपत्रलिखकरमामलेसेअवगतकराया।मांगकियाकिधानापुरकानाममीलकेपत्थरोंसहितसड़कोंकेकिनारेलगनेवालेबोर्डोंपरभीअंकितकियाजाएताकिआनेवालीपीढि़योंकोभीइसधरतीकेवीरसपूतोंकेइतिहाससेप्रेरणामिलसके।लोकनिर्माणविभागकेअधिशासीअभियंतादेवेंद्रपालसिंहनेकहाकिअभीविभागकीओरसेइसबाबतकोईनिर्देशनहींमिलाहै।