मुजफ्फरपुर में राष्ट्रीय लोक अदालत में निपटे 2796 मामले, सात करोड़ 45 लाख की समझौता राशि तय

मुजफ्फरपुर।जिलाविधिकसेवाप्राधिकारकीओरसेशनिवारकोएडीआरबिल्डिंगमेंराष्ट्रीयलोकअदालतकाआयोजनकियागया।इसकेलिएन्यायिकअधिकारियोंवअधिवक्ताओंकी12बेंचगठितकीगईथी।प्राधिकारकेअध्यक्षवजिलाजजमनोजकुमारसिन्हावसचिवसुभाषचंद्राकीदेखरेखमें2796मामलोंकानिष्पादनकियागया।इसमेंसातकरोड़45लाखआठहजार471रुपयेकीसमझौताराशितयकीगई।

इनमामलोंकाहुआनिष्पादन:

मुकदमेसेपहलेकेमामले:

निष्पादितबैंकऋणवसूली:1913

समझौताराशि:पांचकरोड़20लाख11हजार559रुपये

अन्यफौजदारी,दीवानीवबीएसएनएलकेमामले:25

समझौताराशि:28लाख26हजार470रुपये

कोर्टमेंलंबितमामले:

सुलहनीयफौजदारीमामले:72

एनआइएक्टकेमामले:84

बैंकऋणवसूली:सात

एमएसीटीमामले:26

समझौताराशि:एककरोड़92लाख5000रुपये

श्रमविवादकामामला:एक

बिजलीबिलविवादकेमामले:32

समझौताराशि:नौलाख20हजार442

वैवाहिकविवादकेमामले:चार

अन्यदीवानीमामले:632

मोबाइलकालसेबिखरेदांपत्यजीवनकोलोकअदालतनेसंभाला:राष्ट्रीयलोकअदालतमेंमोबाइलकालकेकारणबिखरेदांपत्यजीवनकाएकमामलाआया।शादीकेकुछदिनोंकेबादहीमोबाइलसेपत्नीकाकिसीदूसरेकेसाथबातचीतकोलेकरपतिकेसाथविवादशुरूहोगयाथा।विवादइतनाबढ़ाकिपत्नीमायकेचलीगई।पतिनेदांपत्यजीवनकेअधिकारकोलेकरपरिवारन्यायालयमेंपरिवाददायरकरदिया।वर्षोसेकोर्टमेंतारीखदरतारीखचलतीरही।अंतत:मामलाराष्ट्रीयलोकअदालतकेसमक्षआया।यहांसमझौतेकीपहलकीगई।इससेदोनोंकेबीचगलतफहमीदूरहुई।आपसीसहमतिसेपरिवादवापसलेलियाऔरसाथ-साथचलेगए।

बोलेरोकीठोकरसेदिव्यांगहुएकंपाउंडरकोमिले14लाखरुपये:बाइकसेअस्पतालआनेकेक्रममेंकरजाथानाक्षेत्रकेरहनेवालेकंपाउंडरनीरजकुमारकोबोलेरोसेठोकरलगगई।इसदुर्घटनामेंवेगंभीररूपसेघायलहोगए।उपचारकेबादभीवेदिव्यांगहोगए।वर्ष2016मेंउन्होंनेहर्जानेकेलिएकोर्टमेंपरिवाददाखिलकिया।उनकेअधिवक्ताप्रमोदशुक्लनेबतायाकि23लाखरुपयेकाक्लेमकियागया।मामलालोकअदालतमेंआयाऔर14लाखहर्जानाकीराशिपरदोनोंकेबीचसमझौताहोगया।