New Year 2020 Challenges and Hope: जल के प्रहरी और कल के रक्षक, कोशिशों से कर रहे सजग

लखनऊ[रूमासिन्हा]।समाजसेजुड़ेसरोकारोंकेप्रतिलोगोंकोअपनीबातसमझानानिहायतहीमुश्किलकामहै,भलेहीयहउनकेआजऔरबच्चोंकेकलसेहीक्योंनजुड़ाहो।कोईभीअपनीआदतेंबदलनानहींचाहता।ऐसेमेंकल्पनाकीजासकतीहैकिजबडॉ.शिशिरऔरपुनीतनेपानीबचानेकेलिएलोगोंकोजागरूककरनेकाबीड़ाउठायाहोगा,तोउन्हेंकितनीदिक्कतेंपेशआईहोंगी।फिरभीदोनोंनेअपनेप्रयासोंकीधारकुंदनहींहोनेदी।गांव-गांव,शहर-शहरजाकरजलचौपाललगानेकीउनकीकवायदरंगलानेलगीऔरलोगजलसंरक्षणकेप्रतिसजगहोनेलगे।

यहउनकीकोशिशोंकीहीचमकथीकिजलशक्तिमंत्रालयनेउन्हें‘जलप्रहरी’केसम्मानसेविभूषितकिया।वॉटरएडइंडियाकेप्रोग्रामकोऑर्डिनेटरडॉ.शिशिरचंद्रावपुनीतश्रीवास्तवनेगांवसेलेकरशहरतकलोगोंकोपानीबचानेकामहत्वसमझानाशुरूकिया।

वॉटरवाइजकेसाथशुरूकिएगएइसकैंपेनकेबारेमेंडॉ.शिशिरचंद्राबतातेहैंकियहजनजागृतिउप्रकेबांदाजिलेसेशुरूहुईथी।सबकेसहयोगसेआजयहलखनऊसहितउप्रकेकईशहरोंवगांवोंतकपहुंचचुकीहै।जगह-जगहजलचौपालोंकाआयोजनकरजहांलोगोंकोपानीकीएक-एकबूंदबचानेकेलिएप्रेरितकियाजारहाहै।

गांववशहरकेलिएअलग-अलगमॉडलतैयारकिएगए।बांदाजिलेमेंजहांसभी470पंचायतोंमेंलोगोंकीट्रेनिंगकरजलचौपालकेमाध्यमसेनकेवलजलसाक्षरकियागयाबल्किकुओंवनलकूपपरकंटूरट्रेंचकेटेक्निकलमॉडलतैयारकिएगए।शहरीक्षेत्रोंमेंरसोईवबाथरूमसेनिकलनेवालेपानीकोबचानेकेलिएमॉडलबनाएगए।लोगोंनेइन्हेंतेजीसेअपनायाऔरप्रयाससफलहोतागया।