नगर क्षेत्र के तालाबों में भरा दूषित पानी, नगरवासियों को परेशानी

सीतापुर:नगरक्षेत्रके25वार्डोंव52सेभीअधिकमुहल्लोंकी65हजारआबादीजलभरावसेविगतकईदशकोंसेकाफीत्रस्तहै।जलनिकासीकीव्यवस्थानहोनेकेकारणऐतिहासिकधरोहरोंकेरूपमेंमौजूदतालाबपोखरोंकापानीदूषितहोगयाहै।मच्छरजनितबीमारीकाभयबनारहताहै।मुहल्लाकरनपुरनिवासीमोहम्मदआफाकअंसारीउर्फबड़कऊकाकहनाहैकिनगरक्षेत्रकाऐतिहासिकराजाकातालाब,मेवातीटोलास्थिततालाबतथागोबरहियातालाब,मसवासीतालाबआदिकापानीटेढवातालाबमेंआताहै।पानीइतनाज्यादाविषाक्तहोगयाहैकीजलचरजीवोंकाजीवनसंभवनहींहै।टेढ़वातालाबकेपानीकीनिकासीनहोनेकेकारणधीरे-धीरेपानीनिचलेजलस्थलकीओरबढ़रहाहै।व्यवसाईलक्ष्मणजायसवालकाकहनाहैकीविगतकईदशकोंसेऐतिहासिकराजाकातालाब,गोश्तमंदीकातालाबगोबरहियातालाबमसवासीतालाबमेंपानीभराहुआहैतथापानीकेमिकलयुक्तगंदापानीहैजोकिइतनाज्यादाजहरीलाहैकीतालाबकीमछलियांकईबारमरचुकीहैं।इसओरध्यानदेनेवालाकोईनहींहै।व्यवसाईदेवेंद्रमिश्रकाकहनाहैकिनगरक्षेत्रकेअधिकांशइंडियामार्काहैंडपंपकापानीपीनेयोग्यनहींरहगयाहैं।पानीभरनेकेकुछहीमिनटोंकेउपरांतपीलातैलीयहोजाताहै।ज्यादादेरतकरखनेपरपानीसेबदबूआनेलगतीहै।स्थानीयनागरिकोंकेआगेशुद्धपेयजलकीसमस्याउत्पन्नहोगईहै।शीतांशुजायसवालकाकहनाहैकीप्रदूषणनियंत्रणबोर्डकेद्वाराइसकीजांचकीजानीचाहिए।तथातालाब,कुंओंसेनिकलनेवालेपानीकेटीडीएसकीजांचकीजानीचाहिए।नगरपालिकापरिषदकेअधिशासीअधिकारीह्रदयानंदउपाध्यायकाकहनाहैकिनगरक्षेत्रमेंजलभरावकीनिकासीहेतुनालागढ़गौरीदेवीमंदिरकेपड़ोसलेकिनपूरानहींहोपायाहैजबपूराहोजाएगातोतालाबोंकापानीनिकलनेलगेगा।