नहर में पानी न होने से किसान बेचैन

संवादसूत्र,ओबरा(औरंगाबाद):प्रखंडकेमनौरारजवाहानहरमेंपर्याप्तपानीनहींहैजिसकारणकिसानपरेशानहैं।पानीकेअभावमेंकिसानोंकेबिचड़ेसूखरहेहैं।बेचैनकिसानकभीनहरतोकभीआसमाननिहाररहेहैं।किसानोंकीजमीनबंजरदिखरहीहै।प्रखंडलोजपाअध्यक्षसुरेशपासवाननेबतायाकिमनौरारजवाहानहरमेंपानीकीघोरकिल्लतहै।उधरचंदारजवाहानहरमेंपानीनरहनेसेकिसानोंकेबीचकोहराममचाहै।पानीकेअभावमेंधानकाबिचड़ासूखनेलगाहै।कझवांगांवकेकिसानउदय¨सह,शालीग्राम¨सहएवं¨वध्याचल¨सहनेबतायाकिअबतकगांवोंमेंरोपनीसमाप्तहोजातीथी।कहाकिएकतोनहरमेंपानीनहींहै,दूसरीओरबारिशनहींहोरहीहै।बारिशनहोनेसेकिसानोंकीपरेशानीबढ़गईहै।धानरोपनीकेकार्यमेंतेजीनहींआरहीहै।अगरदोतीनदिनऔरबारिशनहींहुईतोधानकाबिचड़ाखेतोंमेंसूखजाएगा।उधरअवरप्रमंडलपदाधिकारीओमप्रकाशसुमननेबतायाकिकिसानोंकोपानीउपलब्धकरायाजाएगा।नहरमेंपानीकीकमीनहींरहेगी।एक-दोदिनोंमेंनहरमेंपर्याप्तपानीउपलब्धहोजाएगा।