निजी विद्यालयों में जल्द खुलेंगी खेल नर्सरी

जागरणसंवाददाता,फरीदाबाद:खेलोंकाबेहतरमाहौलदेनेकेउद्देश्यसेअबनिजीविद्यालयोंमेंखेलनर्सरीशुरूहोंगी।जिलाखेलविभागनेइसकेलिएआवेदनमांगेहैं।आवेदनकरनेवालेविद्यालयोंमेंजाकरमौकामुआयनाहोगाऔरविभागअपनीरिपोर्टकार्यालयकोसौपेंगे।खेलनिदेशालयसंबंधितविद्यालयमेंमाहौलएवंसुविधाओंकेअनुसारखेलनर्सरीजारीकीजाएंगी।

राज्यखेलपरिसरसहितविभिन्नखेलविभागकेविभिन्नग्रामीणस्टेडियममेंनर्सरीशुरूकरदीगईहै।प्रत्येकनर्सरीमें25खिलाड़ियोंकाचयनकियागयाहै।अबनिजीविद्यालयोंमेंनर्सरीखोलनेकीकवायदचलरहीहै।जिलेमें75विद्यालयसंचालकोंनेनर्सरीकेलिएआवेदनकियाहै।खेलनर्सरीआवंटितकरनेसेपूर्वखेलविभागनेयहसुनिश्चितकरनाचाहताहैकिआवेदनकरनेवालेविद्यालयोंकेपासपर्याप्तजगहहैयानहीं।उनकेपाससरकारद्वारानिर्धारितमानकोंपरआधारितप्रशिक्षकएवंअन्यसंसाधनउपलब्धहैयानहीं।इनसभीकामुआयनाकरकेकोचअपनीरिपोर्टजिलाखेलविभागकार्यालयकोसौपेंगे।सभीकोचोंकीरिपोर्टआनेकेबादनिदेशालयकोभेजीजाएगी।उसरिपोर्टकेआधारपरहीखेलनर्सरीआवंटितकीजाएगी।

सरकारीखेलनर्सरीपूरीतरहचालूहोगईहै।निजीविद्यालयोंकोनर्सरीआवंटितकरनेकीप्रक्रियाअंतिमचरणोंमेंहै।एकसप्ताहमेंनर्सरीआवंटितकरदीजाएगीऔरखिलाड़ियोंकोनर्सरीअलाटकरदीजाएंगी।9से14वर्षतककेबच्चोंको1500रुपयेऔर15से19वर्षतककेबच्चोंकोदोहजाररुपयेप्रतिमाहपोषाहारकेलिएदिएजाएंगे,जोकिउनकेबैंकखातेमेंआएंगे।

-जगबीरसिंह,जिलाखेलअधिकारी