निर्भया कांड में मौत की सजा पाए दोषियों को अंग दान करने के लिए मनाने पर याचिका

नयीदिल्ली,नौजनवरी(भाषा)दिल्लीकीअदालतमेंगुरुवारकोएकयाचिकादायरकर2012मेंनिर्भयासामूहिकदुष्कर्मएवंहत्यामामलेमेंमौतकीसजापाएदोषियोंकोअंगदानकरनेकेलिएमनानेकाअनुरोधकियागयाहै।अतिरिक्तसत्रन्यायाधीशसतीशकुमारअरोड़ाकीअदालतनेलोकअभियोजककेअनुरोधकेबादमामलेकीसुनवाईशुक्रवारतकटालदी।लोकअभियोजकनेराज्यकापक्षरखनेकेलिएऔरसमयदेनेकीमांगकीथी।उल्लखेनीयहैकिअदालतसेसातजनवरीकोजारीआदेशकेमुताबिकमामलेमेंदोषीमुकेश,पवनगुप्ता,विनयशर्माऔरअक्षयकुमारसिंहको22जनवरीकीसुबहसातबजेतिहाड़जेलमेंफांसीपरलटकायाजानाहै।गैरसरकारीसंगठनआरएसीओकीओरसेदायरयाचिकामेंकहागया,‘‘आवेदकदोषियोंसेमनोचिकित्सकऔरवकीलसहितविशेषज्ञोंकेसमूहकोमिलनेकीअनुमतिदेनेकाअनुरोधइसउम्मीदसेकरतेहैंकिइससेउन्हेंघृणितअपराधकाएहसासहोगाजोउन्होंनेकियाहै।’’याचिकाकर्ताकीओरसेउपस्थितवकीलशिवमशर्मानेकहा,‘‘हमारीमंशाउन्हेंजनकल्याणकेलिएअंगदानकरनेकेलिएप्रेरितकरनाहै।’’उल्लेखनीयहैकि2017मेंउच्चतमन्यायालयदोषियोंकीपुनर्विचारयाचिकाखारिजकरचुकाहै।16-17दिसंबर2012कीदरमियानीरातकोछहदोषियोंने23वर्षीयपैरामेडिकलछात्रानिर्भयाकेसाथसामूहिकदुष्कर्मकियाथाऔरबर्बरतरीकेसेचोटपहुंचाईथीजिसकीवजहसे29दिसंबर2012कोसिंगापुरकेमाउंटएलिजाबेथअस्पतालमेंउसकीमौतहोगईथी।मामलेमेंछहआरोपीथे।एकनाबालिगकोबालअपराधअदालतनेतीनसालकेलिएसुधारगृहभेजाथाजबकिरामसिंहनेसुनवाईकेदौरानहीकथितरूपसेफांसीलगाकरतिहाड़जेलमेंखुदकुशीकरलीथी।