निर्जला एकादशी पर नहीं लगी छबील, गायों को खिलाया चारा

जागरणसंवाददाता,जींद:ज्येष्ठशुक्लएकादशीपरमंगलवारकोनिर्जलाएकादशीपर्वश्रद्धालुओंनेपूरीश्रद्धासेमनाया।कोरोनासंक्रमणकेचलतेइसबारइक्का-दुक्काजगहहीमीठेपानीकीछबीलेंलगी।श्रद्धालुओंनेजयंतीदेवीमंदिरकेसामनेअस्थायीनंदीशालामेंगायोंकोहराचाराखिलाकरपुण्यकमाया।

नंदीशालाकेबाहरहीहरेचारेकेटालपरपूरादिनभीड़लगीरही।मंगलवारसुबहहीश्रद्धालुओंकीभीड़यहांजुटनीशुरूहोगईऔरअपनीश्रद्धाकेअनुसारहराचाराकटवाकरगायोंकोखिलाया।यहांचाराडालरहेगोसेवकओमसिंहनेकहाकिगायोंकोचाराखिलानाभीपानीपिलानेकेबराबरपुण्यहै।निर्जलाएकादशीकोभीमसैनीएकादशीभीकहाजाताहै।महीनेमेंजोएकादशीव्रतहोतेहैं।येपूर्णिमासेपहलेवालीएकादशीहै।इसदिनव्रतरखनेवालासूर्योदयसेसूर्योदयतकपानीनहींपीताहै।इसव्रतमेंगर्मीकेबीचपानीनहींपीनेकेकारणकठिनव्रतमानाजाताहै।शुक्रवारपांचजूनकोज्येष्ठमासकीपूर्णिमाहै।इसदिनचंद्रग्रहणभीहोगा।ज्योतिषाचार्यपंडितसत्यनारायणपुजारीकेअनुसारयेग्रहणमांद्यरहेगायानीइसकाधार्मिकअसरनहींहोगा।ग्रहणकासुतकनहींरहेगा।इसवजहसेपूर्णिमासेजुड़ेसभीपूजनकर्मकिएजासकेंगे।