निष्ठुर होने को बेताब ममता बनर्जी

ममताबनर्जीने19मार्चकोएकटेलीविजनइंटरव्यूमेंदिनेशत्रिवेदीकोहटानेकाविचित्रतर्कदिया.उन्होंनेकहा,‘(त्रिवेदीने)हमाराचपरासीकोनिकालदिया.’चपरासीदरअसलएकमुखबिरथाजिसेदीदीनेरेलभवनस्थितत्रिवेदीकेदफ्तरमेंरखाहुआथा.

जबउन्होंनेजुलाई,2011मेंरेलमंत्रीकेरूपमेंममताकीजगहलीऔरअपनीराजनैतिकबॉसकेज्यादातरस्टाफकोबनाएरखातोवेनहींजानतेथेकिउसमेंएकवहचपरासीभीहै.उन्हेंचपरासीकीहैसियतकापताउससमयचलाजबउन्होंनेउसेएकमहिलाआगंतुककेसाथबदतमीजीकरनेपरअपनेऑफिससेहटादिया.चपरासीकीकहानीत्रिवेदीऔरउनकीराजनैतिकबॉसकेबीचसंबंधोंकासंकेतमात्रहै.ममताकोहमेशासंदेहरहाकिउनकेवोटसेजीतनेवालेत्रिवेदीदिलसेकांग्रेसकेसाथहैं.

असंतोषकीगर्मीकेइसमौसममेंलुटियंसकीदिल्लीमेंअपदस्थचपरासीबर्खास्तकैबिनेटमंत्रीसेकहींअधिकयोग्यहै.कैबिनेटमंत्रीकाअपराधकेवलइतनाथाकिउनकेपासरेलवेकेआधुनिकीकरणकेलिएएकयोजनाथी.गर्मीजैसे-जैसेबढ़तीजारहीहै,बुरीतरहसेझुलसीहुईयूपीएसरकारकोकहींसेकोईमददनहींमिलरहीहै.

इसलिएउसेअपनेतेजतर्रारमित्रदलोंकीदयापरनिर्भररहनापड़रहाहै.एकमित्रदलतृणमूलकांग्रेस(टीएमसी)कीसशक्तलेकिनतुनकमिजाजनेताममताप्रधानमंत्रीकोअपनीमुश्किलधुनोंपरनचारहीहैं.प्रधानमंत्रीकाहरलड़खड़ाताकदमइसबातकासंकेतहैकिवेअपनीकुर्सीबचानेकेलिएकिसहदतकजासकतेहैं.जबममतानेदुस्साहसकरनेवालेदिनेशत्रिवेदी,कोहटानेकेलिएकहातोमनमोहनसिंहनेघुटनेटेकतेहुएउनकीमांगमानली.

ममताकम्युनिस्टोंसेबंगालजीतनेकेबादसेहीदिल्लीपरकहरबरपारहीहैं.उनकीहरसनक,हरझ्ल्लाहटशक्तिकाप्रदर्शनहैक्योंकिउनकेपास19सांसदहैं.खस्ताहालयूपीएसरकारकोसत्तामेंबनेरहनेकेलिएउनकासमर्थनजरूरीहै.ममताजबचाहेंगीकिभूमिअधिग्रहणविधेयकमेंसंशोधनकियाजाएतोसंशोधननिश्चितरूपसेहोगा.

जबवेबांग्लादेशकेसाथतीस्ताजलबंटवारेपरअपनीअसहमतिसेप्रधानमंत्रीकोशर्मसारकरनाचाहेंगीतोमनमोहनउनकेबिनाढाकाजाएंगे.जबवेराष्ट्रीयएकतापरिषदकीबैठकमेंशामिलहोनानहींचाहेंगी,नहींशामिलहोंगी.जबवेसमानविचारवालेदूसरेलोगोंकेसाथरिटेलमेंविदेशीनिवेशकाविरोधकरेंगीतोकेंद्रअपनीयोजनाकोठंडेबस्तेमेंडालदेगा.जबवेमुकुलरायजैसेनेताकोत्रिवेदीकीजगहबिठानाचाहेंगी,तोबिठादेंगी.वेचाहतीथींकिरेलभाड़ाकमहोजाए,सोहोगया.

सो,अबयहबातमानलीगईहैकिगुस्साईदीदीकोयूपीएसरकारमेंदखलंदाजीकीपूरीआजादीहै.लेकिनयूपीएसरकारकोअपनीमर्जीसेकुछकरनेकीआजादीनहींहै.दीदीऐसाकरसकतीहैंक्योंकिवेशिखरपरखड़ीहैंऔरयूपीएमरणासन्नपड़ाहै.यदिवेएकउतावलेजननेताकीपरमशक्तिकीमूर्तरूपहैंतोयूपीएबिखरनेकीकगारपरखड़ेघरकीतरहहै.वेनएजोशसेभरेमित्रदलोंकीप्रत्यक्षप्रतिनिधिहैंजोहमलाकरनेकेलिएतैयारतोहैं,लेकिनमारनेकेलिएनहीं.

मराहुआयूपीएसहयोगीदलोंकेहितोंकोपूरानहींकरेगा,लेकिनदिल्लीमेंलड़खड़ाती,छटपटाती,प्राणोंकीभीखमांगतीसरकारउनकीहरख्वाहिशपूरीकरेगी.वेजोभीकीमतचाहेंगे,थोड़ी-सीसौदेबाजीसेमिलजाएगी.इसकीबेहतरीनमिसालयोजनाआयोगके19मार्चकेफैसलेपरउनकारोषहै.योजनाआयोगनेशहरीक्षेत्रोंमेंगरीबीरेखाको2011के32रु.प्रतिव्यक्तिसेघटाकर28रु.औरग्रामीणक्षेत्रोंमें26रु.सेघटाकर22रु.करनेकाफैसलाकियाथा.

नईकसौटीदर्शातीहैकिगरीबीघटीहै.वर्ष2004-05में37फीसदीआबादीगरीबथीजो2009-10मेंघटकरलगभग30प्रतिशतपरआगई.समाजवादीपार्टी(सपा)केअध्यक्षमुलायमसिंहयादवने21मार्चकोसंसदकेबाहरकहा,‘इसकेलिएप्रधानमंत्रीमनमोहनसिंहजिम्मेदारहैंक्योंकिवेयोजनाआयोगकेअध्यक्षहैं.उन्हेंयोजनाआयोगकेउपाध्यक्षमोंटेकसिंहअहलूवालियाकोपदसेहटादेनाचाहिए.आंकड़ेपूरीतरहसेगलतहैं.

यूपीएकेघटकदलऐसेसमयमेंआक्रामकहुएहैंजबभारतकीजनतासत्ता-विरोधीमूडमेंहै.इसमहीनेकेशुरूमेंउत्तरप्रदेशकास्पष्टजनादेशऔर21मार्चकेउप-चुनावनतीजेइसबातकेसंकेतहैंकिसत्ताधारीपार्टियोंकेखिलाफलोगोंमेंरोषहै.यूपीएकेघटकदलउसकेबिल्कुलकमजोरहोनेपरहमलाकरनाचाहतेहैं.औरयूपीएआजजितनाकमजोरहै,उतनापहलेकभीनहींरहा.लेकिनइसरणनीतिमेंममताअकेलेनहींहैं.यहबातदीगरहैकिवेसबसेमुखरहैं.

लोकसभामें19मार्चकोराष्ट्रपतिकेअभिभाषणकेतुरंतबादजबमनमोहनसिंहनेसबकोखुशकरनेवालाजवाबदियातोराष्ट्रवादीकांग्रेसपार्टी(एनसीपी)केअध्यक्षशरदपवारनेकहाकिवेप्रधानमंत्रीकीकुछटिप्पणियोंसेआहतहैं.प्रधानमंत्रीनेकहाथा,‘मेरेख्यालसेमाननीयसदस्यभीमहसूसकरतेहैंकिहमारीगठबंधनसरकारहोनेकेकारणमुश्किलफैसलेलेनाऔरभीमुश्किलहोजाताहै.हमेंसर्वसम्मतिबनाएरखनेकीजरूरतकोध्यानमेंरखतेहुएनीतिबनानीपड़ेगी.’

यहघटकदलोंकेखिलाफकोईकड़ाबयाननहींथा,फिरभीआमतौरपरशांतरहनेवालेमराठानेताआहतहोगए.एकदिनबाद,पवारनेमीडियासेकहाकिउनकीपार्टीकेकुछसदस्योंनेउनसेशिकायतकीकिअन्यसाझीदारोंकेसाथएनसीपीकोभीबेमतलबनिशानाबनायागयाजबकिवहकिसीतरहकीपरेशानीखड़ीनहींकरती.

पवारनेकहा,‘एनसीपीपिछले7-8वर्षोंसेकांग्रेसकेसाथहै,लेकिनएकभीऐसीमिसालनहींहैजबहमनेगैर-जिम्मेदारानातरीकेसेव्यवहारकियाहो.हमनेसंसदयाकैबिनेटकीबैठकोंकाकभीबहिष्कारनहींकियाहै.जबहमनीतिगतमुद्दोंपरचर्चाकेलिएबैठतेहैंतोमतभेदोंकाहोनास्वाभाविकहै.लेकिनएकबारकैबिनेटकेफैसलालेलेनेपरहमनेसार्वजनिकरूपसेउसकाविरोधकभीनहींकिया.प्रधानमंत्रीकेसपाटबयानसेहमआहतऔरदुखीहैं.’यूपीएकोसमर्थनदेनेकेआठसालमेंयहपहलामौकाहैजबपवारनेअपनीपीड़ाव्यक्तकीहै.

पवारलगभगसभीनीतियोंपरसरकारकेकट्टरसमर्थकरहेहैं.इसकेबावजूदउनकामाननाहैकिसरकारनेऐसेकईमुद्दोंपरउनकेविचारोंकीअनदेखीकरदीहैजोदेशकेकृषिमंत्रीकेरूपमेंउनकेलिएमहत्वपूर्णहैं.खाद्यसुरक्षाविधेयक,कपासऔरप्याजकेनिर्यातपरप्रतिबंधलगानेकाफैसलाऔरबीटी-बैंगनकोअनुमतिदेनाइसकीमिसालहैं.वाणिज्यमंत्रालयनेपवारसेपरामर्शकिएबिनाकपासकेनिर्यातपरप्रतिबंधलगानेकाफैसलाकरलिया.पवारनेगुस्सेमेंजबइसकाविरोधकियातोसरकारनेयहफैसलावापसलेलियाक्योंकिवहएकऔरघटककोनाराजनहींकरनाचाहतीथी.

लखनऊसेआरहीखबरेंभीआश्वस्तकरनेवालीनहींहैं.अपने22सांसदोंकेसाथसपाकांग्रेसकोबाहरसेसमर्थनदेरहीहै.कुछकांग्रेसीनेतानिजीबातचीतमेंममताकीजगहमुलायमकोलाएजानेकीउम्मीदव्यक्तकररहेथे.उनकीउम्मीदउससमयबढ़गईजबमुलायम(औरमायावती)ने19मार्चकोराष्ट्रपतिकेअभिभाषणपरलाएगएधन्यवादप्रस्तावपरसरकारकोबचालिया.टीएमसीनेनेशनलकाउंटरटेररिज्मसेंटरकेमसलेपरवाकआउटकियालेकिनमायावतीऔरमुलायमनेसरकारकासमर्थनकिया.

लेकिनकांग्रेसकीउम्मीदउससमयटूटगईजबउसीदिनदोपहरबादमुलायमनेकहाकिउनकीदिलचस्पीममताकीजगहलेनेमेंनहींहै.उन्होंनेसवालकिया,‘एकसालकेलिएसरकारमेंशामिलहोनेकीक्यातुकहै?’उन्होंनेस्पष्टकियाकिभाजपाकोसत्तासेदूररखनेकेलिएवेसरकारकोबाहरसेमुद्देपरआधारितसमर्थनदेतेरहेंगे.

मुलायमसिंहने ‘एकसाल’क्योंकहा?सरकारकेतोअभीदोसालबचेहैं.क्यायहकोईचूकहैयाकोईसंदेश?एकसपानेताकहतेहैं,‘देखिए,जबहमनेउन्हेंपरमाणुसमझौताप्रस्तावपरबचायाथातोउसकेबादउन्होंनेहमारेसाथकैसाबर्तावकिया.हमलोकसभाचुनावमेंउनकेसाथगठजोड़करनाचाहतेथे,लेकिनउन्होंनेकोईदिलचस्पीनहींदिखाई.’मुलायमकेइनकारमेंएकमहत्वपूर्णसंदेशछिपाहैःयूपीए2कीसरकारअबसत्तामेंनहींहै.वहवहांकेवलबनीहुईहैऔरबाहरजानेकीतैयारीकररहीहै.

घटकोंकेअसंतोषकीदूसरीवजहराहुलगांधीहैं.बीमारीकेकारणसोनियाआरामकररहीहैं,ऐसेमेंकांग्रेसअपनेमित्रदलोंकोठीकसेनहींसंभालपारहीहै.चाहेएम.करुणानिधिहोंयाममता,सोनियासबकेसाथव्यक्तिगतसंबंधबनाएरखनेमेंमाहिरहैं.ममता2011मेंअपनीजीतकेबाददिल्लीआनेपरसबसेपहलेसोनियासेमिलीं.सोनियानेउन्हेंगलेलगाया.संवाददाताओंनेजबममतासेइसकेबारेमेंपूछातोउनकाजवाबथा,‘राजीवगांधीकेपरिवारकेसाथमेरेबहुतअच्छेसंबंधहैं.’लेकिनराहुलकेसाथउनकीघनिष्ठतानहींहै.राहुलनेउमरअब्दुल्लाकोछोड़किसीभीक्षेत्रीयनेताकेसाथनिजीसंबंधबनानेकीपहलनहींकी.

घटकदलोंकाशक्तिप्रदर्शनइसबातकाभीसंकेतहैकिकांग्रेसमेंचुनावजीतनेकीक्षमताखत्महोतीजारहीहै.राज्यस्तरपरकांग्रेससेगठबंधनकरनाचुनावजीतनेकीरणनीतिनहींरहगईहै.राष्ट्रीयलोकदल(रालोद)केकुछनेताओंकामाननाहैकियदिउसनेउत्तरप्रदेशमेंकांग्रेससेगठबंधननहींकियाहोतातोविधानसभाचुनावमेंपार्टीकोकुछऔरसीटेंमिलतीं.एनसीपीकामाननाहैकिवहगोवामेंकांग्रेसीमुख्यमंत्रीकेखिलाफजनआक्रोशकाशिकारहुई.महाराष्ट्रसेएकएनसीपीविधायककहतेहैं,‘एनसीपी-कांग्रेसगठबंधनगोवामेंकांग्रेसकेकारणहारा.’

रालोदसरकारमेंअपनाएककैबिनेटमंत्रीहोनेकेबावजूदविपक्षमेंबैठताहै.राष्ट्रपतिकेअभिभाषणपरवोटकेदौराननागरिकउड्डयनमंत्रीअजितसिंहकोवहांसेदौड़करअपनीनिर्धारितसीटपरजानापड़ा.संसदीयकार्यमंत्रीपवनबंसलघटकदलोंकेसाथहफ्तेमेंकम-से-कमतीनबारसमन्वयबैठककरनेकीबातकरतेरहेहैं,लेकिनउन्हेंखुदअपनेमेंसुधारलानेकीजरूरतहै.मसलन,उन्हेंसबसेपहलेसंसदमेंअपनेसीटिंगचार्टकोदुरुस्तकरनाहोगा.

एनसीपीकेएकसांसदकहतेहैं,‘कांग्रेसकोसरकारकेसाथअपनीनिजीजागीरजैसाबर्तावकरनाबंदकरदेनाचाहिए.ममताइसीलिएनाराजहैं.गठबंधनकाअर्थहैअनुपातकेअनुसारसत्तामेंभागीदारी.कांग्रेससोचतीहैकिहमेंमंत्रीबनाकरउसनेहमारेऊपरउपकारकियाहै.एकभीऐसीमिसालबतादीजिएजबघटकदलोंकीअनुशंसापरकिसीकोराज्यपाल,राजदूतयाकिसीआयोगकाअध्यक्षबनायागयाहो.कांग्रेसनेसबअपनेपासरखाहै.’

अबकांग्रेसअपनेसाझीदारों,खासतौरपरममताकेसामनेघुटनेटेककरहीसत्तामेंबनीरहसकतीहै.ममताजल्दबाजीमेंहैं.उनकेक्रोधकावेगदिल्लीमेंदबावसेनहींबल्किबंगालसेनिर्धारितहोताहै.उन्होंनेभलेहीपिछलेसालदुनियाकेएकसबसेलंबेकम्युनिस्टशासनकोहरादियाहो,लेकिनचतुरराजनीतिज्ञहोनेकेकारणवेजानतीहैंकिसत्तामेंतीनदशकोंतकउनकारहनानामुमकिनहै.बंगालकेग्रामीणइलाकोंमेंउन्हेंकामकरनेवालीमहिलामानाजाताहै.

वेकम्युनिस्टोंकीखालीकीगईजगह,राजनीतिकेवामपक्षसेशासनकरतीहैं.यहांतककिरहन-सहनमेंभीवेऔसतकॉमरेडकोशर्मसारकरसकतीहैं.वेअपनेट्रेडमार्ककॉटनकीमुड़ी-तुड़ीसाड़ीऔररबड़कीचप्पलमेंसंन्यासिनीसमाजवादीलगतीहैं.इसलिएजबत्रिवेदीसंसदमें‘गरीब-विरोधी’रेलबजटपेशकररहेथेतोदीदीबहुतदूर,अपनेमजबूतगढ़नंदीग्राममेंथींऔरलोगोंकेसाथअपनेरिश्तेकोमजबूतबनारहीथीं.उन्होंनेत्रिवेदीकेबर्खास्तकिएजानेकीघोषणाएकजनसभामेंकी.

ममताअपनेपरंपरागतदुश्मनमार्क्सवादियोंकीहरचालकोभांपसकतीहैं.अपनेगैर-भरोसेमंदसाझीदारकांग्रेससेवेसजगरहतीहीहैं.ममताजानतीहैंकिकांग्रेसकीयोजनाकम्युनिस्टविरोधीजगहपरकब्जाकरनाऔरपश्चिमबंगालमेंअपनीसरकारबनानाहै.उसकीयहयोजनाचाहेजितनीमहत्वाकांक्षीहो,लेकिनयहतेजतर्रारमुख्यमंत्रीअबतककांग्रेसपरबीसहीसाबितहुईहैं.ममताकोअपनीधुनपरकांग्रेसकोनचातेरहनाहोगा.इसीसेकांग्रेसकीकमरटूटेगी.

-साथमेंभावनाविज-अरोड़ा,किरणतारेऔरलक्ष्मीकुमारस्वामी