न्यायाधीशों को रित देने का मामला : एसआईटी जांच की मांग खारिज

नयीदिल्ली,14नवम्बरभाषाउच्चतमन्यायालयनेन्यायाधीशोंकेनामपररितमांगनेकेमामलेमेंएसआईटीजांचकीमांगवालीयाचिकाआजखारिजकरदी।अदालतनेकहाकिइसतरहकीयाचिकानेन्यायाधीशोंकीईमानदारीपरअनावश्यकसंदेहपैदाकियाहै।उच्चतमन्यायालयनेवकीलकामिनीजायसवालकीयाचिकाकोखारिजकरतेहुएस्पष्टकरदियाकिसीबीआईकीप्राथमिकीकिसीन्यायाधीशकेखिलाफनहींहैऔरकिसीन्यायाधीशकेखिलाफइसतरहकीशिकायतदर्जकरनाभीसंभवनहींहै।बहरहाल,इसनेजायसवालकेखिलाफमानहानिनोटिसजारीनहींकिया।न्यायमूर्तिआरकेअग्रवाल,न्यायमूर्तिअरूणमिश्राऔरन्यायमूर्तिएएमखानविलकरकीपीठनेमामलेमेंएकन्यायाधीशकोसुनवाईसेहटानेकेलिएप्रयासकरनेपरभीप्रतिकूलटिप्पणीकीऔरकहाकियहउचितनहींहै।जायसवालनेवरिष्ठवकीलशांतिभूषणऔरप्रशांतभूषणकेमाध्यमसेमामलेमेंन्यायमूर्तिखानविलकरकेहटनेकीमांगकीथी।खानविलकरनेखुदकोमामलेसेहटानेसेइंकारकरदियाथा।पीठनेकहाकिइसतरहकीयाचिकादायरकरसंस्थानकोनुकसानपहुंचायागयाहैऔरइसकीईमानदारीपरअनावश्यकसंदेहपैदाकियागयाहै।याचिकामेंदावाकियागयाथाकिमेडिकलकॉलेजोंसेजुड़ेमामलोंकेनिपटारेकेलिएकथिततौरपररितलेनेकेआरोपलगाएगएथे।इसमेंओडिशाउच्चन्यायालयकेसेवानिवृान्यायाधीशइशरतमसरूरकुदुशीभीआरोपीहैं।भाषा