पानी निकासी का नाला खोला, फिर भी अरोड़वशं धर्मशाला सड़क से पानी निकलने में लग गए 11 घंटे

जागरणसंवाददाता,फतेहाबाद:

पिछलेदिनोंअरोड़वंशधर्मशालारोडपरडालीगईसीवरेजलाइनअधिकारियोंकेलिएगलेकीफांसबनगईहै।पूरेशहरसेपानीनिकासीकारूटहीबदलगया।रविवारसुबहआईबरसातके11घंटेबादसड़कसेपानीकीनिकासीहोसकी।जगहजगहपानीभरजानेकेकारणलोगोंकोपरेशानीहुई।

पिछलेकईदिनोंसेजिलेमेंबरसाततोहोरहीथीलेकिनफतेहाबादवभट्टूखंडमेंबरसातनहींहोरहीथी।रविवारसुबहमौसमएकाएकबदलगयाऔरझमाझमबरसातहोगई।यहबरसातसुबह9बजेतकजारीरहीलेकिनदिनभरबादलछाएरहे।बरसातकेकारणखेतोंमेंपानीभरगया।जिससेइसबारनरमेवधानकीअच्छीफसलहोनेकीउम्मीदहै।रविवारकोजिलेमें10एमएमबरसातदर्जकीगई।

------------------------------------------

अरोडवंशधर्मशालारोडपरभरादोफीटतकपानी

बरसातकेकारणअरोड़वंशधर्मशालारोडपरकरीबदोफुटतकपानीभरगया।नईसीवरेजलाइनडालनेकेकारणपानीनिकासीकारूटहीबदलदियागया।पहलेअस्पतालकीतरफसेपानीनिकलताथा।लेकिनअबपार्किंगकेसाथपानीनिकलनेकेकारणदिक्कतआईहै।पिछलेदिनोंआईबरसातकेबादविधायकदुड़ारामनेखुदमौकेपरपहुंचकरचिल्लीकीतरफजोनालाबंदकियागयाथाउसेखुलवायाथा।लेकिननालाखुलवानेकेबादभीस्थितिपहलेजैसीरही।हालांकिकुछस्थानोंसेपानीनिकलगया।

-------------------------------------------

रतियागेटसेनिकला11घंटेबादपानी

बरसातआनेकेबादरतियागेटवअरोड़वंशधर्मशालारोडपरपानीभरगया।रविवारहोनेकेकारणदुकानेंबंदथीऐसेमेंकुछदिक्कतकमहुई।इसजगहसेपानीनिकासीहोतेहोते11घंटेलगगए।जनस्वास्थ्यविभागकीपूरीटीमसुबहसेलेकरशामतकगलीरही।पंपसेटद्वारापानीनिकालागया।वहींबरसातकेदौरानबिजलीचलीजानेकेकारणदिक्कतभीआई।यहीकारणहैकिपानीनिकासीमेंदिक्कतहुई।अबजनस्वास्थ्यविभागकेअधिकारीभीघबरानेलगगएहैकिअगरपूरेदिनबरसातहोगईतोक्याहालहोगा।

---------------------------------------------------

येकहनाहैकिकिसानोंका

गांवबड़ोपलकेकिसानरामकुमार,सुरेशकुमार,रमेशकुमारवसुरजीतसिंहनेकहाकिफतेहाबादखंडमेंबरसातनहींहोरहीथी।रविवारकोबरसातहुईहै।लेकिनअभीबरसातकमहै।आनेवालेसमयमेंअच्छीबरसातकीउम्मीदहै।किसानोंनेकहाकिइसबारधानवनरमेंकीफसलअच्छीहोनेकीउम्मीदहै।

शहरमेंइनजगहभरापानी

-अस्पतालकेसामने

मकानकीछतगिरी,सामानदबाऔरबालबालबचापरिवार

गांवजमालपुरशेखामेंरविवारदोपहरएकमकानकीछतभरभराकरगिरगई।हादसेकेवक्तहालांकिपारिवारिकसदस्यघरमेंउपस्थितथे,परंतुगनीमतरहीकिसभीबचनिकले।पीड़ितमकानमालिकनेप्रशासनसेमुआवजादिलानेकीमांगकीहै।जमालपुरशेखागांवमेंवार्डनं-4निवासीजिद्रसिंहनेबतायाकिउसकामकानकच्चाहैं।मजदूरीकरवेअपनेपरिवारकापालनपोषणकरताहै।जिसकेचलतेउसकीआर्थिकस्थितिकाफीकमजोरहै।बीतेकुछदिनोंसेरूकरूककरहोरहीबारिशकेकारणउसकेमकानमेंसीलनआगई।दोपहरकोजिद्रअपनीपत्नीवबच्चोंसहितकमरेमेंबैठाहुआथा।इसीबीचकमरेकीछतसेमिट्टीगिरनेलगी।जिद्रकोछतगिरनेकाआभासहुआतोवेपत्नीवबच्चोंकोलेकरतुरंतबाहरनिकलआया।उसकेनिकलनेकेकुछहीदेरबादछतभर-भराकरगिरगई।छतगिरनेकीआवाजसुनकरग्रामीणदौड़पडे़।

नईलाइनडालनेकेकारणदिक्कतआईहै।जनस्वास्थ्यकीपूरीटीमलगीहुईहै।पानीनिकासीजल्दहोजाएगी।पंपसेटलगाएहुएहै।अबपानीकारूटबदलनेकेकारणदिक्कतहुई।चिल्लीझीलकीतरफसेभीनालाखोलदियागयाहै।

कनिष्ठअभियंता,जनस्वास्थ्यविभाग,फतेहाबाद।