पेगासस जासूसी मामले पर सुनवाई के लिए तैयार हुआ सुप्रीम कोर्ट, सेवानिवृत्त न्यायाधीश से स्वतंत्र जांच कराने की है मांग

नईदिल्ली,आइएएनएस।सुप्रीमकोर्टशुक्रवारकोपेगाससजासूसीमामलेमेंसुनवाईकेलिएतैयारहोगयाहै।दिग्गजपत्रकारएन.रामऔरशशिकुमारकीयाचिकापरसुनवाईकेलिएसुप्रीमकोर्टसहमतहोगयाहै।पत्रकारोंद्वारादायरयाचिकामेंपेगाससजासूसीकांडकीअपनेमौजूदायासेवानिवृत्तन्यायाधीशसेस्वतंत्रजांचकेलिएनिर्देशदेनेकीमांगकीगईथी।वहीं,वरिष्ठअधिवक्ताकपिलसिब्बलनेमुख्यन्यायाधीशएनवीरमनाऔरन्यायमूर्तिसूर्यकांतकीअध्यक्षतावालीपीठकेसमक्षमामलेकाउल्लेखकरतेहुएकहाकिनागरिकों,राजनेताओं,विपक्षीदलों,पत्रकारोंऔरअदालतकेकर्मचारियोंकीनागरिकस्वतंत्रताकोनिगरानीमेंरखागयाहै।

उन्होंनेजोरदेकरकहाकियहएकऐसामुद्दाहै,जोभारतसमेतदुनियाभरमेंछायाहुआहैऔरइसमुद्देपरतत्कालसुनवाईकीआवश्यकताहै।सिब्बलकीदलीलोंकेबादपीठनेकहाकिवहअगलेसप्ताहमामलेकीसुनवाईकरसकतीहै।

याचिकाकर्ताओंनेकेंद्रकोयहखुलासाकरनेकेलिएनिर्देशजारीकरनेकीमांगकीकिक्याउसकीकिसीएजेंसीनेपेगाससस्पाइवेयरकेलिएलाइसेंसप्राप्तकियाहैयाकथितरूपसेनिगरानीकरनेकेलिएप्रत्यक्षयाअप्रत्यक्षरूपसेइसकाइस्तेमालकियाहै।

याचिकामेंदावाकियागयाहैकिहैकिंगएकआपराधिकअपराधहैजोअन्यबातोंकेसाथदंडनीयहै।66(कंप्यूटरसेसंबंधितअपराध),66B(बेईमानीसेचुराएगएकंप्यूटरसंसाधनयासंचारउपकरणप्राप्तकरनेकीसजा),66E(गोपनीयताकेउल्लंघनकेलिएसजा)और66F(साइबरआतंकवादकेलिएसजा)आईटीअधिनियमकेकारावासयाजुर्मानाकेसाथदंडनीयहै।

बतादेंकिपेगाससजासूसीमामलेमेंविपक्षसंसदकेमानसूनसत्रमेंजमकरहंगामाकररहाहै।सदनकीकार्यवाहीभीसहीसेनहींचलपारहीहै। कांग्रेसकेपूर्वअध्यक्षराहुलगांधीनेसरकारसेकहाथाकिवोसंसदकाअधिकसमयबर्बादनकरेंऔरविपक्षकोमहंगाई,किसानोंऔरपेगाससकेमुद्दोंकोसदनमेंउठानेदें।