पेयजल को लेकर नहीं सचेत हुए तो भविष्य में भुगतने होंगे गंभीर परिणाम : कटारिया

जागरणसंवाददाता,जगाधरी:महाराजाअग्रसेनस्नातकोत्तरमहाविद्यालयमेंहरियाणाउच्चतरशिक्षाआयोगकेसौजन्यसेजलसंरक्षणवर्तमानस्थितिवभविष्यमेंचुनौतियोंकेविषयपरडॉ.विजयचावलाकेनेतृत्वमेंएकदिवसीयराष्ट्रीयसंगोष्ठीकाआयोजनहुआ।उद्घाटनकाआयोजनकेंद्रीयजलशक्तिराज्यमंत्रीरतनलालकटारियाकेप्रेरकउद्बोधनसेहुआ।प्रथमसत्रकेअध्यक्षयमुनानगरविधायकघनश्यामदासअरोड़ारहे।

विधायकघनश्यामदासअरोड़ानेकहाकिआजहमेंड्रिमसिचाईयोजनाअपनानीपडे़गी।गांवोंमेंतालाबोंकोस्वच्छरखतेहुएपानीकोबचानेकेउपायकरनेहोंगे।घरोंमेंजलस्वच्छताकेरूपमेंआरओद्वाराजितनापानीस्वच्छहोताहै,उतनाहीव्यर्थभीबहजाताहै।उसेकैसेस्वच्छरखाजाए।इसकेभीउपायकरनेहोंगे।

मुख्यातिथिरतनलालकटारियानेकहाकिप्रतिवर्षहोनेवालीवर्षाकाकेवलआठप्रतिशतपानीहीहमउपयोगमेंलासकतेहैं,बाकीसारापानीबहकरसमुद्रमेंमिलजाताहै।दिनप्रति-दिनसंसारमेंपेयजलकीउपलब्धताकमहोरहीहै।भविष्यमेंयहसंकटगहराताजाएगा।मंत्रालयनेदेशके256उनजिलोंमेंजिनमेंपानीकीकमीहै,जलबचावकार्यक्रमचलाएहैं।नदियोंकोजोड़नेकाप्रयासजारीहै।सरकारद्वाराभूमिजलस्तरकोबढ़ानेकीकईयोजनाएंशुरूकीहैं।सरकारद्वाराराष्ट्रीयजलपुरस्कारकीशुरूआतकरना,उनकेलिएउपयोगीहोगाजोपानीबचावकेउपायखोजतेहैं।दोपहरबादवक्तव्यडॉ.राजीवबंसलमुख्यअभियंतासिचांईविभागसेसेवानिवृतद्वाराकियागया।डॉ.राजीवनेहरियाणामेंसतलुज,ब्यास,यमुनानदियोंसेप्राप्तपानीकाआंकडे़बारब्योराप्रस्तुतकिया।बंसलनेपीपीटीकेमाध्यमसेहरियाणाकेसभीक्षेत्रोंमेंजलउपलब्धतावजलकीकमीकोदर्शाया,हरियाणामेंवर्तमानमेंड्रिपसिचाईयोजनातथाफव्वारासिचाईसिस्टमकोखेतीमेंखाएजानेकीयोजनाएंलागूकीजारहीहै।