पीयू फर्जी बिल मामले में 107 कर्मियों के नाम आए सामने

जागरणसंवाददाता,पटियाला:पंजाबीयूनिवर्सिटीमेंफर्जीबिलवालामामलाछहलाखसेशुरूहोकर11करोड़रुपयेपारकरगयाहै।वहीं,मामलेमेंशामिलमुलाजिमोंकीसंख्या107होचुकीहै।इनमेंसे40कीपहचानहोचुकीहै।वर्ष2018सेवर्ष2021तककेबिलसंबंधीशुरूहुईयहजांचअकादमिकसेशन2013केबिलोंतकपहुंचगईहै।मामलेकेआरोपितनिशुचौधरीकेनामसेचर्चितइसमामलेमेंअबतकयूनिवर्सिटीके16कर्मचारियोंकीशमूलियतसामनेआचुकीहै।यहजानकारीवीरवारकोपंजाबीयूनिवर्सिटीकेवीसीप्रो.अरविदनेदी।

वीसीनेबतायाकियूनिवर्सिटीनेकार्रवाईकरतेहुएदसकर्मचारियोंकोसस्पेंडकियाऔरछहकांट्रैक्ट,एडहाकवदिहाड़ीदारकर्मचारियोंकोबर्खास्तकियागयाहै।इसकेसमेंअबतक11करोड़रुपयेसेज्यादाघपलासामनेआचुकाहै।उन्होंनेकहाकिमामलेकीपड़तालअबभीजारीहै,जिसव्यक्तिकेखिलाफसुबूतमिलताहै,उसकेखिलाफसख्तकार्रवाईकीजारहीहै।वीसीनेबतायाकियूनिवर्सिटीकीअपनीजांचकेदौरानलेखाशाखाकेरिकार्डरूममें2013तककेपुरानेरिकार्डकीभीपड़तालकीगई।इसजांचकेदौरान800केकरीबबिलऐसेसामनेआचुकेहैं,जिनमेंगड़बड़ीहोनेकीआशंकाहैऔरयहबिल107अलग-अलगकर्मचारियोंकेनामपरजारीकिएगएहैं।इन107मेंसे40लोगोंकीपहचानहोचुकीहै।इनमेंसे16यूनिवर्सिटीकेमुलाजिमऔर24यूनिवर्सिटीकेबाहरसेहैं।इसकेअलावा67लोगोंकीपहचानकरनाबाकीहैं।येथामामला

मई2021मेंयूनिवर्सिटीकेआडिटवलेखाशाखाद्वाराकुछखोजार्थियोंकेअटेंडेंसवमासिकखर्चकेबिलसंदिग्धपाएगएथे।पड़तालमेंसामनेआयाथाकिजिनकेनामपरयहबिलथे,उनकेनामकाकोईखोजार्थीकिसीभीविभागमेंनहींथा।जांचमेंयहसभीबिलफर्जीनिकले।मामलेकीपड़तालकोलेकरयूनिवर्सिटीद्वारातीनसदस्यकमेटीकागठतकियागयाथा।जिसकेबादयूनिवर्सिटीनेसीनियरसहायकनिशुचौधरी,जतिदरसिंहवकुछयूनिवर्सिटीकेबाहरकेव्यक्तियोंकेखिलाफकार्रवाईकी।यूनिवर्सिटीद्वारामौजूदासमयमेंभीइसमामलेकीपड़तालकीजारहीहै।