प्रकृति के आगे बेबस हो रही सरकारी व्यवस्था

गोड्डा:कुआं,नदी,ताल,पोखरसबनेसाथछोड़दियाहै।पानीकेलिएहरआमवखासइनदिनोंपानीपानीहै।प्रकृतिकेआगेसबकुछबेबसहै,किसीकीएकनहींचलरही।सरकारकीसभीव्यवस्थाबेबसहै।जिलेमेंपानीकेहालातदिनोंदिनखराबहोतेजारहाहै।आलमयहहैकिसावनमासमेंजलग्रहणक्षेत्रसूखापड़ाहै।हजारोंहेक्टेयरखेतपरतीपड़ेहुएहैं।पानीकीमारसेआमजनजीवनकराहरहाहै।किसानोंकोउम्मीदटूटतीजारहीहै।आखिरकरेंभीतोक्या।लोगोंकीउम्मीदअबइंद्रदेवकीकृपादृष्टिपरटिकीहुईहै।कमजोरमानसूननेसरकारकेजलशक्तिअभियानपरएकतरहसेब्रेकलगादियाहै।पानीकीजगहसूखेजैसेहालातहैं।जलसंरक्षणकार्यक्रमचलानाटेढ़ीखीरसाबितहोरहाहै।हां,इतनाजरूरकियाजासकताहैकिजिसजलकाउपयोगलोगअभीकररहेहैं,उसेफिरसेअगरजमीनकेअंदरहीरिचार्जकियाजायतोज्यादाकारगरहोसकताहै।हालमेंमहीनोंमेंसरकारनेजलसंकटकेबादजलसंरक्षणकेलिएव्यापकअभियानचलारखाहै।नहर,तालाबसेलेकरचेकडैमबनरहेहैंलेकिनजबतकवर्षाहीनहींहोगीतबतकजलसंचयनकीयोजनाएंभीकारगरनहींहोसकतीहै।इससंबंधमेंलोगोंकाभीमाननाहैकिजोहालातबनेहैं,परिस्थितियांयहबतानेकेलिएकाफीभयावहहै।अंदाजातोइसीसेलगायाजासकताहैकिनदीसेसटेगांवमेंकभीवाटरलेबलनीचेनहींजाताथा,आजवहांभीपानीसंकटझेलनापड़रहाहै।कारणबहुतस्पष्टहैविकासकेनामनदीसेव्यापकपैमानेपरबालूकादोहनकेसाथहीअवैधखननकियाजारहाहै।ऐसेमेंजबतकनदीसेबालूकेउठावकोसीमितदायरामेंरोकानहींजाताहै।जलसंरक्षणसेलेकरजलशक्तिअभियानकानाराकारगरनहींहोसकेगा।यहबाततोगांववालेअच्छीतरहसमझरहेहैंलेकिनचाहकरभीलोगकुछनहींकरपारहेहैं।जिलेकीप्रमुखनदियोंमेंकझियावहरनानदीहैलेकिनआजइसकीदुर्दशाकिसीसेनहींछिपीहै।दोनोंनदीमेंजबतकबालूरहा,लोगोंकोनतोजलसंकटझेलनापड़ा,नहीपटवनकेलिएहीदिक्कतहुई।जलस्तरकोबनायेंरखनेमेंकारगरमानाजानेवालाबालूकेरहनेसेनदीकेतटवर्तीइलाकोंमेंपानीकीकिल्लतनहींहोतीथीलेकिनपिछलेएकदशकनेलोगोंकोपानीकीगंभीरसंकटकासामनाकरनापड़ारहाहै।कारणलगातारबालूकाउठावहै।रहासहाकसरअवैधखननपूरीकररहाहै।कझियानदीसेकुछदूरीपरस्थितकौआडैमसूखापड़ाहै।जहांवर्षाकेमौसममेंपानीनहींहै।स्थानीयलोगोंकेमुताबिकफिलहालडैममेंकुछजगहबच्चेक्रिकेटखेलतेहै।वहींसदरप्रखंडकीनेपुरापंचायतकेपरासीगांवमेंबनातालाबसूखापड़ाहै।यहीनहींतालाबकीवर्षोसेखुदाईभीनहींहुईहै।इससेलगभगएककिलोमीटरकीदूरीपरहरनानदीबहतीहैलेकिनइलाकामेंसूखापड़ाहुआहै।तालाब,बांधमेंपानीनहींहै।त्राहिमामकिस्थितिहै।हालांकिलोगोंकामाननाहैकिसरकारजोहालातकोदेखतेहुएजलसंरक्षणकीयोजनाचलारहीहै,इसेजमीनीस्तरपरचलानीहोगी।जरूरतकेअनुसारतालाबवबांधकीखुदाईकरनीहोगी।

राज्यसरकारपूरेमामलेपरगंभीरहै।जलसंरक्षणकोलेकरकार्यक्रमचलायेजारहेहैं।लेकिनवर्षातोईश्वरकेहाथमेंहै,जोहालातहैं,वर्षाहोनेपरहीस्थितिबदलेगी।फिलहालसरकारजलसंचयनकेसाथहीउपयोगपानीकोफिरजमीनकेअंदरकैसेलेजायाजाए,इसपरकामकियाजारहाहै।पौधरोपणकियाजारहाहै।इसकेसाथहीव्यवस्थाकेसाथमिलकरसभीकोप्रयासकरनाहोगा।जलसंरक्षणसिर्फव्यवस्थाकेभरोसेसंभवनहींहै।मानसूनअबतककमजोररहाहै।उम्मीदकीजारहीआनेवालेसमयमेंहालातमेंसुधारहोंगे।जलशक्तिअभियानजोरपकड़ेगा।नदीसेबालूकेअत्यधिकउठावनेमुश्किलेंबढ़ाईहै।-अमितमंडल,विधायकगोड्डा