पर्यावरण संरक्षण : यमुना के पानी को शुद्ध करने को नोएडा से मिला बल

कुंदनतिवारी,नोएडा:कोंडलीनालेकापानीयमुनामेंगिरायाजाए।वहपूरीतरहसेशुद्धहोनाचाहिए।इसलिएनेशनलग्रीनट्रिब्यूनल(एनजीटी)नेनोएडाप्राधिकरणऔरसिचाईविभागकोदिल्लीविश्वविद्यालयकेप्रोफेसरसीआरबाबूकेनिर्देशनमेंकोंडलीनालेकेगंदेवबदबूदारपानीकोप्राकृतिकतरीकेसेशुद्धकरानेकाआदेशदियाहै।इसमेंनोएडाप्राधिकरणकोकृत्रिमवेटलैंडबनानेकेलिएराशिखर्चकरनीहै,जबकिउत्तरप्रदेशसिचाईविभागकोकृत्रिमवेटलैंडबनानाहै।पानीकोशुद्धकरनेकीप्रक्रियाकोशुरूकिया।इसकेतहतसेक्टर-51मेंनालेमेंपायलेटप्रोजेक्टकेतहतकृत्रिमवेटलैंडबनायाथा,जिसकीसफलताकेबादअबनोएडामेंदोजगहोंपरनयाप्राकृतिकवेटलैंडबनानेकानिर्णयलियागयाहै।यहअपनेआपमेंप्रदेशमेंपहलीयोजनाहै।

प्राधिकरणमेंजलसीवरविभागकेउपमहाप्रबंधकआरपीसिंहनेबतायाकिसेक्टर-51में500मीटरकेहिस्सेमेंकृत्रिमवेटलैंडबनानेकाकामचलरहाहै।इसकेबादसेक्टर-137औरएनएसईजेड(नोएडाविशेषआर्थिकजोन)परनालेकेअंदरइसेबनायाजाएगा।जनवरीतकतीनोंस्थानोंपरकृत्रिमवेटलैंडबनकरतैयारहोजाएंगे।जिसस्थानपरवेटलैंडबनाएजारहेहैं,उसकीसतहकोपत्थरोंसेढकदियाजाएगा।इसकेऊपरमौरंगकीपरतहोगी।इसमेंलगाएजानेवालेपौधेफिल्टरेशन,आक्सीडेशनवसेडिमेंटेशनयानीप्रदूषिततत्वोंकोतलपरलाकरउन्हेंखत्मकरनेकीप्रक्रियाकरेंगे।यहांचैंबरबनाकरउनमेंपानीकोरोकाजाएगा,जिससेस्लिटनीचेबैठजाएगीऔरइसेहटालियाजाएगा।इसकेअलावाप्रत्येकछोटेनालोंकीनिकासीपरफिल्टरकाप्रयोगहोगा,जोकिपानीकेसाथआनेवालेबड़ेमलबेकोनालेमेंनहींगिरनेदेगी।

40सालपुरानाहैकोंडलीनाला

कोंडलीकेअलावाशहरकेकईनालोंऔरहरनंदीकापानीनोएडाकेसेक्टर-150स्थितमोमनाथलगांवकेपासयमुनामेंमिलजाताहै।इससेयमुनामेंगंदगीबढ़तीजारहीहै।इसपरएनजीटीनेसख्तीदिखाकोंडलीनालेपरजगह-जगहपानीकीगंदगीकोदूरकरनेकानिर्देशदियाथा।यहनालाकरीब40सालपुरानाहै,जिसका17किलोमीटरसेअधिककाक्षेत्रनोएडाप्राधिकरणकेअधीनहै।तीनोंस्थानोंपरवेटलैंडबनानेमेंकरीब23करोड़रुपयेखर्चकियाजारहाहै।इनसेक्टरोंसेहोकरगुजरताहैनाला

कोंडलीनालानोएडामेंसेक्टर-11स्थितहरिदर्शनपुलिसचौकीकेपासनोएडा(गाजियाबादकेमाध्यमसे)मेंप्रवेशकरताहै।17किलोमीटरकीअधिकदूरीकेबादसेक्टर-168मेंचकमंगरोलीकेपासयमुनानदीमेंगिरजाताहै।यहसेक्टर-11,सेक्टर-12,सेक्टर-22,सेक्टर-50,सेक्टर-92,सेक्टर-168सेहोतेहुएयमुनामेंगिरताहै।