पश्चिम चंपारण की दो हजार एकड़ भूमि असिंचित, नलकूप के खराब मोटर की नहीं हो रही मरम्मत

पश्चिमचंपारण,जागरणसंवाददाता।हेलो!ऑपरेटरसाहबबोलरहेहैं।मैंपठखौलीसेएककिसानबोलरहाहूं।नलकूपसेपानीक्योंनहींमिलरहा।दूसरीओरसेआवाजआतीहै,मोटरजलाहै।कईबारकहालेकिनआपलोगचंदादेनेकोतैयारनहीं।मैंनेविभागकोरिपोर्टकरदीहै।देखिएकबतकठीकहोताहै।इसकेबादआवाजआनीबंदहोजातीहै।नगरकेवार्डसंख्यादोकायहकिसानदुखहोकरघरलौटजाताहै।दरअसलबीतेकरीबछहमहीनोंसेपठखौलीऔरसुखवनसरेहकीसीमापरस्थापितसरकारीनलकूपकामोटरजलापड़ाहै।जिसकेकारणकरीबदोहजारएकड़खेतोंतकपानीनहींपहुंचपारहा।किसानऑपरेटरसेलेकरविभागकेअभियंताओंकोलिखितवमौखिकशिकायतकरतेकरतेथकचुकेहैं।लेकिनसिस्टमकीउदासीनताकुछइसकदरहावीहैकिङ्क्षसचाईव्यवस्थादमतोड़तीनजरआरही।

निजीपंपसेटतथाङ्क्षसचाईकेअन्यसाधनोंकाहीसहारा:

आलमयहहैकिमाध्यमवर्गीयकिसाननिजीपंपसेटतथाङ्क्षसचाईकेअन्यसाधनोंकाप्रयोगकरइसीतरहधरतीकासीनाचीररफसलउपजारहेहैं।जबकिछोटेकाश्तकारइंद्रदेवकीकृपाकीओरनिर्भरहै।समयसेवर्षाहुईतोठीकवरनामेहनतव्यर्थ।

महीनोंगायबरहतेऑपरेटर:

पठखौलीकेकिसानसतीशकुमारपाठक,मोहनठाकुर,रामनाथठाकुर,अमीनमियां,मोहम्मदआजादखान,अमितकुमारपांडेयसुखवनकेबृजेशयादव,किशोरयादव,राजेशयादववमलकौलीकेनंदलालयादव,जगलालयादव,संजयचौरसिया,कृष्णमोहनयादवऔरमनोजचौरसियाबतातेहैंकिपटवनकाकरसमयसेभरनापड़ताहै,लेकिनजबव्यवस्थाकीबातआतीहैतोछोटीछोटीतकनीकीत्रुटिकोदूरकरनेकेलिएचंदादेनापड़ताहै।जबव्यवस्थासरकारीहैतोसबकुछअपडेटहोनाचाहिए।लेकिनस्थानीयनलकूपकाऑपरेटरतकनीकीगड़बड़ीहवालादेकरमहीनोंगायबरहतेहैं।किसानोंनेयहमांगकीकिअविलंबनलकूपकेमोटरकोठीककराकरजलापूर्तिबहालकीजाए।

मौसमकीमेहरबानीपरहीनिर्भरता:

नलकूपकेखराबहोजानेकेकारणपठखौलीकेसुखवनसरेहकीकरीबदोहजारएकड़भूमिअङ्क्षसचितहोगईहै।मौसमकीमेहरबानीपरकिसाननिर्भरहैं।जबकिपटवनकीस्थायीव्यवस्थामौजूदहै।सिस्टमकीमनमानीकेकारणखेतोंतकपानीनहींपहुंचरहाहै।

इससंबंधमेंबगहादोकेबीडीओप्रणवकुमारगिरिकाकहनाहैकिनलकूपकेखराबहोनेकीजानकारीमिलीहै।संबंधितविभागकोपत्राचारकरइसेशीघ्रठीककरायाजाएगा।