पुलिस मल्लू को अगर अस्पताल पहुंचाती तो शायद बच सकती थी जान, सासाराम के तिलौथ की घटना

तिलौथू(रोहतास),संवादसूत्र।तिलौथूस्थितउत्तरपट्टीमोहल्लानिवासीमल्लूयादवकेछतसेछलांगलगानेकेबादअगरपुलिसउसेतत्कालअस्पतालपहुंचाईहोती,तोशायदउसकीजानबचसकतीथी।स्वजनभीपुलिसकेसामनेउहापोहकीस्थितिमेंरहगएकिशायदपुलिसउसेगिरफ्तारकरअपनेसाथलेगई।दोघंटेबादउसकेमरनेकीजानकारीस्वजनोंकोहोपाई।

मृतककेछोटेभाईसुनीलकुमारकेअनुसाररविवारकीरातमेरेभाईमल्लूयादवकोगिरफ्तारकरनेकेलिएथानाध्यक्षसहप्रशिक्षुडीएसपीअर्चनाकुमारीकेनेतृत्वमेंएकदर्जनपुलिसघरपरछापेमारीकरनेपहुंचीथी।पुलिसकोदेखगिरफ्तारीकेभयसे उन्होंनेएकाएकछतसेछलांगलगादी।स्वजनोंनेबतायाकिमल्लूकेगिरनेकेबादपुलिसउसकेपासगईऔरउसेदेखनेकेबादघायलावस्थामेंछोड़वहांसेलौटगई।अगरपुलिसतत्कालउसेअस्पतालपहुंचाईहोती,तोशायदउसकीजानबचसकतीथी।

स्‍वजनाेंकोलगापुलिसलेगईसाथ

बतायाकिमल्लूकेछतसेगिरनेकेबादपुलिसतुरंतछतसेउतरकरउसकेपासगईथी।अंधेराहोनेकेकारणकुछसाफनजरनहींआया।स्वजनोंनेसोचाकिपुलिसमल्लूयादवकोगिरफ्तारकरअपनेसाथलेगई।इसीउहापोहमेंपरिवारकेलोगरहगए,लेकिनदोघंटाकेबादपताचलाकिवहछतसेगिरकरमृतअवस्थामेंपड़ाहै।तबजाकरस्वजनआनन-फाननमेंउसेउठाकरअस्पतालकीओरचलपड़े,लेकिनअस्पतालपहुंचनेपरचिकित्सकनेमृतघोषितकरदिया।मालूमहोकिएकमाहपूर्वतिलौथूनिवासीमल्लूयादवसमेत14लोगोंपरथानाक्षेत्रकेपथरागांवसेपुलिसअभिरक्षासेबालूलदेट्रैक्टरकोछुडालेजानेकेआरोपमेंथानेमेंमामला दर्जकियागयाथा।आरोपितमल्लूकीगिरफ्तारीकेलिएपुलिसउसकेघरपरछापेमारीकरनेगईथी,जहांपुलिसकोदेखउसनेछतसेछलांगलगादी,जिससेमौतहोगई।

आजहीअदालतमेंजमानतपरहोनेवालीथीसुनवाई:

पुलिसअभिरक्षासेट्रैक्टरछुड़ालेजानेकेमामलेमेंआरोपितमृतकमल्लूयादवकोसोमवारकोअदालतमेंजमानतपरसुनवाईहोनेवालीथी।मृतककेभाईसुनीलकुमारनेबतायाकि मल्लूयादवनेकुछदिनपहलेअपनीजमानतयाचिकाअदालतमेंलगाईथी।जिसकेसाथघटनाकेदिनपेट्रोलपंपपरकामकरनेकासीसीटीवीकाफुटेजभीवकीलकेमाध्यमसेदियागयाथा।जिससेआजजमानतमिलनेकीपूरीउम्मीदथी।इसीबीचबीतीरातप्रशिक्षुडीएसपीसहथानाध्यक्षअर्चनाकुमारीकेनेतृत्वमेंघरपरछापेमारीकेदौरानउन्होंनेपुलिसकोदेखतेहीछतसेछलांगलगादी,जिससेउनकीमौतहोगई।

भाईकोराखीबांधनेएकसाथघरपहुंचीथीचारबहने:

अपनेभाईयोंकोराखीबांधनेएकसाथआजघरपहुंचीचारबहनोंकीआंखेंउससमयफटीकीफटीरहगई,जबइसमनहूसखबरकोसुनी।बतायाजाताहैकिछहभाईबहनोंमेंसबसेबड़ेभाईमल्लूयादवकीचारबहनेलीलावती,रेनू,गुडिय़ाएवंकलावतीनेइसबाररक्षाबंधनसेकाफीपहलेराखीबांधनेकासपनालेकरएकसाथअपनेभाईकेघरपहुंचीथी।पहलेआनेकामकसदथाकिराखीकेसाथ-साथइसबारसभीभाई-बहनकुछदिनएकसाथरहकरबिताएंगे।तिलौथूपहुंचनेकेबादभाईकीमौतकीखबरसुनसभीचित्कारकरउठीं।