राधा-कृष्ण ने खेली फूलों की होली, गांव में उतरा फागुन

जागरणसंवाददाता,रामपुरबेलौली(मऊ):क्षेत्रकेमंसारामब्रह्मधामबहादुरपुरमेंचलरहीसंगीतमयश्रीमदभागवतकथाकाशुक्रवारकोपूर्णाहुतिविशालभंडारेकेसाथहुई।महंतफलाहारीबाबाकीदेखरेखमें02दिसंबरसेहुईकथासेसमूचाक्षेत्रभक्तिभावमेंसराबोररहा।कथासमापनपरबृजमेंराधा-कृष्णसंगखेलीगईफूलोंकीहोलीकासजीवचित्रणकियागया।इसकेचलतेगांवमेंपूरीफागुनीबयारउतरआई।सभीश्रोतागणहोलीगीतोंकेसाथझूमकरनृत्यकरनेलगे।

वृंदावनकेकथावाचकचंद्रप्रकाशठाकुरनेकहाकिजिसप्रकारराधाऔरकृष्णनेदुनियाकोप्रेमकासंदेशदिया।उसीप्रकारपारिवारिकसंबंधभीकोमलतासेजुड़ेरहनाचाहिए।इसकेपूर्वउन्होंनेकृष्ण-सुदामामित्रताकीकथासुनाई।कहाकिसच्चामित्रवहीहोताहैजोविपत्तिमेंसाथदेताहै।भगवानश्रीकृष्णनेसुदामाकेसाथमित्रताकाआदर्शप्रस्तुतकियाहै।मित्रतामेंऊंच-नीचऔरअमीरीगरीबीकोनहींदेखनाचाहिए।सच्चामित्रप्रेमकाकारकहोताहै।प्रधानविपिनतिवारी,अभययादव,सभापतितिवारी,बृजेशयादव,चंद्रभानगोंड़,मनोजतिवारी,सिटू,तहसीलदारयादव,विनोदप्रजापति,सूर्यकुमारयादवआदिमौजूदथे।