राजीव के बहाने सोनिया गांधी बोलीं, बहुमत की ताकत के सहारे देश में डर-भय का माहौल

जागरणब्यूरो,नईदिल्ली। कांग्रेसअध्यक्षसोनियागांधीनेबहुमतकीताकतकेसहारेदेशमेंडरऔरभयकामाहौलबनानेकोलेकरमोदीसरकारपरसीधानिशानासाधाहै।राजीवगांधीकोमिलेरिकार्डतोड़बहुमतकाहवालादेतेहुएकांग्रेसअध्यक्षनेकहाकिउन्होंनेकभीबहुमतकीताकतकाइस्तेमालडराने-धमकानेकेलिएनहींकिया।

राजीवगांधीके75वेंजयंतीवर्षपरकार्यक्रम कांग्रेसनेतापूर्वगृहमंत्रीपीचिदंबरमकीगिरफ्तारीपरजारीराजनीतिकघमासानकेबीचसोनियागांधीनेसीधेइसकाजिक्रतोनहींकियामगरसत्ताकीताकतकेसहारेअसहमतिकेसुरकोबंदकरनेकीबातकहइसओरसाफइशाराकिया।राजीवगांधीके75वेंजयंतीवर्षपरआयोजितपार्टीकेविशेषकार्यक्रमकोसंबोधितकरतेहुएसोनियागांधीनेयहबातकी।कांग्रेसकेअंतरिमअध्यक्षकेतौरपरदुबारापार्टीकीकमानसंभालनेकेबादयहउनकापहलासंबोधनथा।इसमेंउन्होंनेमौजूदासरकारकोबहुमतकाअनुचितइस्तेमालकरनेकालेकरघेरा।

पतिकानामलेकरसत्‍तापक्षकोघेरा  सोनियागांधीनेकहा'राजीवगांधी1984बेमिसालबहुमतसेजीतकरआएथे।लेकिनउन्होंनेउसताकतकाइस्तेमालभयकामाहौलबनानेऔरडराने-धमकानेकेलिएनहींकिया।संस्थानोंकीस्वतंत्रताकोनष्टकरनेकेलिएनहींकिया।असहमतिऔरविरोधकेनजरिएकोकुचलनेकेलिएनहींकिया।लोकतांत्रिकपरंपराऔरजीवनशैलीकेलिएखतरापैदाकरनेकेलिएनहींकिया।'

राजीवकाउदाहरणपेशकिया कांग्रेसऔरराजीवकीलोकतंत्रकेमूल्योंमेंगहरीआस्थाकाउदाहरणदेनेकेलिएसोनियानेसत्ताछोड़नेकेराजीवकेफैसलेकाभीउदाहरणदिया।सोनियानेकहाकि1989मेंकांग्रेसदुबाराअकेलेपूरेबहुमतसेजीतकरनहींआपायी।तबराजीवनेगरिमाऔरविनम्रताकेसाथजनादेशकोस्वीकारकिया।कांग्रेसकेसबसेबड़ाराजनीतिकदलहोनेकेबावजूदसरकारबनानेकादावापेशनहींकिया।ऐसाइसलिएनहींकियाकिउनकेआंतरिकनैतिकबल,उदारताऔरउनकीइमानदारीनेऐसाकरनेनहींदिया।येआजकोईनहींकरसकताजैसाराजीवनेकियाथा।मगरकांग्रेसअध्यक्षनेतत्कालइसमेंसंशोधनकरतेहुएकहाकिराहुलनेकिया।उनकासाफइशारायूपीएसरकारकेसमयराहुलगांधीकेमंत्रीसेलेकरपीएमबननेतककेप्रस्तावकोठुकरानेकीओरथा।

राजीवकेभविष्‍यकेनजरियेकेबारेमेंबताया सोनियागांधीनेअतीतपरसत्तापक्षकेहमलेकोलेकरभीउसपरनिशानासाधतेहुएकहाकिजहांकुछलोगअतीतकोखोदनेमेंजुटेंहैंवहींराजीवदेशकाभविष्यबनानेकीदृष्टितयकरनेमेंलगेथे।राजीवकोअपनेइतिहासपरगर्वथामगरउनकीदृष्टिसाफथीकिभारतकोएकआधुनिकदेशबननाहैजहांवैज्ञानिकदृष्टिकीजरूरतहैनकिविभाजनकारीसोचकी।

पूर्वाग्रह,सामाजिकविभेदऔरध्रुवीकरणकेलिएइसकाइस्तेमालनहींकियाजानाचाहिए।इसीलिएकांग्रेसकोएकजुटहोकरउनताकतोंकामुकाबलाकरनाहोगाजोउनमूल्योंकोनष्टकररहीहैंजिनमेंराजीवकीआस्थाथीऔरयहीउनकोसच्चीश्रद्धांजलिहोगी।सोनियानेइसकेलिएपार्टीकोतैयारहोनेकासंदेशदेतेहुएकहाकिचुनावीहारजीतहोतेरहतेहैं।मगरकांग्रेसकेसामनेआजबहुतबड़ीचुनौतीहैकिवहविभाजनकारीताकतोंकेखिलाफअपनीवैचारिकलड़ाईमजबूतीसेजारीरखेक्योंकियेताकतेंआजसमाजकास्वरूपहीनहींभारतकीबुनियादीआत्माजिसकीआधारशिलाहमारेसंविधाननेरखीहैउसेबदलनेपरउतारूहैं।

राजीवकेपांचसालकेअहमकामोंकाकियाजिक्र सोनियागांधीनेइसदौरानप्रधानमंत्रीकेतौरपरराजीवगांधीकेपांचसालकेअहमकामोंकाभीजिक्रकियाजिसनेनयेऔरआधुनिकभारतकीनींवरखी।देशकीबुनियादीसूरतबदलकरदिखाया।18सालकेयुवाओंकोमतदानकाअधिकार,पंचायतोंऔरनगरपालिकाओंकोसंवैधानिकदर्जादेना,कंप्यूटरऔरदूरसंचारक्रांतिकोउनकाअमिटयोगदानबताया।देशकीएकताऔरअखंड़ताकेलिएपंजाबसमझौता,मिजोरमसमझौता,त्रिपुरासमझौता,असमसमझौताऔरदार्जिलिंगहिलकांउसिलसमझौताकिया।इनसमझौतोंकेलिएराजीवगांधीनेकांग्रेसकेहितोंकोएकतरफरखकरदेशकीएकताकेलिएसाहसिकफैसलेलिए।