राजस्थान कांग्रेस की सियासी उठापटक पर भाजपा की पैनी नजर

मनीषगोधा,जयपुर।लोकसभाचुनाव2019केनतीजोंकेबादराजस्थानकांग्रेसमेंचलरहीसियासीउठापटकपरभाजपाकीपैनीनजरबनीहुईहै।हालांकियहांकर्नाटकयामध्यप्रदेशजैसीस्थितिनहींहैऔरभाजपाकोसत्तामेंआनेकेलिएबहुमतजुटानाबेहदमुश्किलकामहै,लेकिनभाजपानेताअपनेबयानोंसेसरकारपरदबावबनानेमेंजुटेहैं।इसकेसाथहीनिर्दलीयविधायकोंसेभीसंपर्कसाधाजारहाहै,ताकिकांग्रेसमेंकोईबड़ीटूटफूटहोतोउसकापूराफायदाउठायाजासके।इसकेसाथहीपार्टीकांग्रेस कीखींचतानकोनवंबरमेंहोनेवालेनगरीयनिकायचुनावतकमुद्दाबनाएरखनेकीरणनीतिपरभीकामकररहीहै।

लोकसभाचुनावमेंकांग्रेसकीकरारीहारकेबादराजस्थानमेंकांग्रेसकीधड़ेबाजीखुलकरसामनेआगईहैऔरसरकारसेलेकरसंगठनतकमेंमुख्यमंत्रीअशोकगहलोतवप्रदेशअध्यक्षसचिनपायलटकेखेमोंकेबीचखींचतानसाफनजरआरहीहै।कांग्रेसनेताओंकेबयान,सोशलमीडियापरलिखीजारहीटिप्पणियोंऔरदोनोंनेताओंकेलगातारदिल्लीदौरोंनेयहांभाजपानेताओंकोसरकारकेखिलाफहमलाबोलनेकापूरामौकादेदियाहै।पार्टीकेप्रदेशअध्यक्षमदनलालसैनी,नेताप्रतिपक्षगुलाबचंदकटारिया,उपनेताप्रतिपक्षराजेंद्रराठौड़सहितसभीछोटे-बड़ेनेतामुख्यमंत्रीअशोकगहलोतऔरप्रदेशअध्यक्षसचिनपायलटसेइस्तीफामांगचुकेहैं।इननेताओंकाकहनाहैकिलोकसभाचुनावमेंकरारीहारकेबादकांग्रेसजनताकाविश्वासखोचुकीहै।अबइससरकारकेबनेरहनेकाकोईअर्थनहींहै।बयानोंकेसाथहीभाजपानेताकांग्रेसविधायकोंकेअसंतुष्टहोनेऔरभाजपाकेसंपर्कमेंहोनेकेदावेभीकररहेहैं।

विधायकऔरपूर्वशिक्षामंत्रीवासुदेवदेवनानीनेलोकसभाचुनावसेपहलेहीइसतरहकादावाकरदियाथा।नेताप्रतिपक्षगुलाबचंदकटारियानेभीकहाथाकिचुनावकेबादराजस्थानमेंमुख्यमंत्रीबदलसकताहै।अबहालमेंपार्टीकेप्रदेशउपाध्यक्षज्ञानदेवआहूजानेभीयहदावाकियाकिकांग्रेसके20से25विधायकअसंतुष्टहैं।पार्टीसूत्रोंकीमानेंतोकांग्रेसकेअसंतुष्टविधायकऔरनेताओंपरभाजपाकीनजरेंहैं।इसकेअलावाप्रदेशकेनिर्दलीयविधायकोंसेभीभाजपासंपर्कमेंहै।हालमेंबसपाविधायकोंद्वाराराज्यपालसेमिलनेकासमयमांगेजानेकेघटनाक्रमकोभीइसीसेजोड़करदेखाजारहाहै।

राजस्थानविधानसभामेंअभीयहहैदलीयस्थिति

200सीटोंवालीराजस्थानविधानसभामेंकांग्रेसकेपास100सीटेंहैं।इसकेअलावाएकविधायकराष्ट्रीयलोकदलकाहै,जिसनेकांग्रेसकेसाथमिलकरचुनावलड़ाथा।ऐसेमेंकांग्रेसकेपासबहुमतकीसंख्याहै।भाजपाकेपास73सीटहैं।वहींराष्ट्रीयलोकतांत्रिकपार्टीकेसाथहुएगठबंधनकेबादआरएलपीकी3सीटेंभीभाजपाकेखातेमेंजुड़तीहैं।हालांकिइसलोकसभाचुनावमेंभाजपाऔरआरएलपीकेएक-एकविधायकसांसदबनगएहैं।लिहाजा2सीटेंभाजपाकेखातेसेकमहोगईहैंऔरअभीभाजपाकेपास74सीटेंहैं।इसीतरह13निर्दलीय,2माकपा,6बहुजनसमाजपार्टीऔर2सीटेंभारतीयट्राइबलपार्टीकेपासहैं।निर्दलीयोंमें12विधायकोंनेकांग्रेसकोसमर्थनदेरखाहैऔरइनमेंसेज्यादातरपूर्वकांग्रेसीहैं।इसकेअलावाबसपानेभीकांग्रेसकोबाहरसेसमर्थनदेरखाहै।ऐसेमेंभाजपाकेलिएयहांबहुमतजुटानाबेहदमुश्किलकामहै।

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप