रास्ता शार्टकट, पर हाफ जाएंगे आप और आपकी खटखटिया

जागरणसंवाददाता,कठुआ:पठानकोट-कठुआहाईवेसेहटकरशहरसेलखनपुरकोजोड़नेवालाएकवैकल्पिकऔरशार्टकटरास्ताबेड़ियांपत्तनकाहैजोअक्सरजामयाफिरबरसातकेमौसममेंइस्तेमालहोताहै।इसमार्गकीदुर्दशाअफसरबाबूओंकोकैसेपताहोगी,क्योंकिउनकाइसमार्गसेकभीकोईवास्ताहीनहींरहाहै।

अबइसमार्गकीहकीकतसेरूबरूकरवाएंआपको।येमार्गपिछलेतीनसालसेजर्जरहै।गढ्डोंसेभरेइसमार्गमेंपैदलचलनाहोयाफिरगाड़ीमें,आपघायलजरूरहोंगे।मात्र500मीटरलंबीइसमार्गकीपीडब्ल्यूडीविभागसुधतकनहींलेरहाहै।आलमयेहैकिमार्गमेंपूरीतरहसेबड़े-बड़ेगढ्डोंमेंबदलचुकाहै,जहांसेपैदलचलनातोदूर,वाहनभीअसंतुलितहोकरगुजरताहै।हालांकि,येलिकमार्गहोनेपरभीव्यवसायिकवाहनोंद्वाराइस्तेमालकियाजारहाहै।इसमेंक्रशरसेभरेबड़े-बड़ेट्रालेगुजरतेहैं।भारीभारकेकारणमार्गकास्वरूपहीबिगड़गयाहै,जबकिइसमार्गसेशहरवासीहटलीमोड़सेलखनपुरजानेकेलिएइसेचुनतेहैं,ताकिहटलीमोड़हाईवेपरवाहनोंकीभीड़सेकुछहदतकबचाजासके,लेकिनपिछलेतीनसालोंसेमार्गखस्ताहालमेंहै।

शहरकेवार्डदससेजोड़नेवालामार्गनहरकेकिनारेबेड़ियांपत्तनसेहाईवेपरमग्गरखड्डसेजुड़ताहै।गर्मियोंकेदिनोंमेंतोवाहनचालकोंकेलिएशहरसेलखनपुरजानेकेलिएयेमार्गपहलीपसंदबनताहै।दरअसल,मार्गकेदोनोंऔरपौधोंकीहाईवेतकमग्गरखड्डमेंठंडीछायाहोतीहै,जिससेकुछपलराहतपातेहुएलखनपुरजानेकेलिएशहरवासीइसीमार्गकोचुनतेहैं,लेकिनअबजहांसेगुजरनाखतरेसेखालीनहींरहाहै।बहरहाल,तीनबारपीडब्ल्यूडीविभागकेकार्यालयएवंचुनावकेकेंद्रीयराज्यमंत्रीसेभीमार्गरिपेयरकीलगाचुकेहैंलोगगुहार।

बार-बारपीडब्ल्यूडीविभागकेकार्यालयमेंचक्करलगानेकेबादभीविभागउक्तमार्गकीरिपेयरकेलिएकदमनहींउठारहाहै।इसकेचलतेवहांगुजरनेवालेलोगोंकेलिएपरेशानीबनीहै।बदहालसड़कपूरीतरहसेगढ्डोंमेंबदलचुकीहै।जिसकीतत्कालरिपेयरकीजरूरतहै।

-राजेंद्रखजूरिया।कोट्स---

चुनावकेदौरानभीउन्होंनेकेंद्रीयराज्यमंत्रीडॉ.जितेंद्रसिंहसेउक्तमार्गकीरिपेयरकेलिएमांगकीथी,लेकिनअभीतकसड़ककीरिपेयरकेलिएकोईभीकदमनहींउठायेगएहैं।इससेवहांआसपासरहनेवालीआबादीकेलिएभीदिकक्तेंबढ़ीहै,विभागइसकीजल्दरिपेयरकराए।

-रवींद्रसिंह।कोट्स--

मात्रपांचसौमीटरसड़कमार्गकीरिपेयरकेलिएदोबारप्रदर्शनभीलोगकरचुकेहैं,अधिकारीरिपेयरकरानेकाआश्वासनदेतेहैं,लेकिनबादमेंकोईकदमनहींउठातेहैं।विभागकेअधिकारीजनताकीसमस्याओंकोगंभीरतासेहलकरनेकीबजायसमयनिकालरहेहै।

-सुरेशकुमार।कोट्स---

जबतकलोगसड़कोंपरउतरधरनाप्रदर्शननकरेंतबतकविभागकोईकदमनहींउठाताहै।सड़कोंकेविकासकेलिएविभागकेपासकरोड़ोंकेफंडउपलब्धहोतेहैं,लेकिनजबरिपेयरकीबारीआतीहैतोअनदेखीशुरूहोजातीहै।

मार्गकीरिपेयरकेलिएविभागकेपासफिलहालफंडनहींहैऔरनहीइसेप्रस्तावितयोजनामेंरखागयाहै,लेकिनफिरभीसड़ककीरिपेयरकेलिएप्रयासकिएजाएंगे।

-एसकेगुप्ता,एईई,पीडब्ल्यूडीविभाग,कठुआ।