रोपड़ी-ढलोह सड़क पर पैदल चलना भी मुश्किल

संवादसहयोगी,डंगार:घुमारवींउपमंडलकीबरठींढलोह,रोपड़ीसड़ककीबरसातनेसूरतबिगाड़दीहै।आलमयहहैकिगंदेपानीकीनिकासीनहोनेसेसड़कपरगदंगीबहरहीहै।इसकारणलोगोंकोपरेशानीझेलनीकासामनाकरनापड़रहाहै।सड़कपरबिछाईगईटा¨रगकईस्थानोंसेपूरीतरहउखड़गईहै।लोगोंकाकहनाहैकिगंदेपानीकीनिकासीकीसहीव्यवस्थानहोनेसेकारणबारिशहोनेपरगंदगीगंदगीसड़कपरबहनेलगतीहैऔरपानीवाहनोंकेटायरोंकेसाथदूरतकउछलताहै।ऐसेमेंयदिकोईविद्यार्थीयाराहगीरवहांसेगुजररहाहोताहैतोउसकेकपड़ेगंदेहोजातेहैं।दोपहियावाहनचलानाकेलिएतोयहांसेगुजरनाजोखिमभराहै।

संतोषचौहान,प्रदीपकुमार,विजयकुमार,राजीव,संजय,पंकज,रमेशकाकहनाहैकिसड़ककीहालतकाफीखराबहोचुकीहै।सड़कपरवाहनचलानातोदूरकीबातहैपैदलचलनाभीमुश्किलहोगयाहै।बरसातमेंसड़ककीहालतऔरभीज्यादाबिगड़गईहै।सड़कपरपानीकीनिकासीसहीनहींहै।लोकनिर्माणविभागसमस्यासेभलीभांतिअवगतहैलेकिनफिरइसकासमाधाननहींकरपायाहै।विभागकोलोगोंकीसमस्याकोदेखतेहुएप्राथमिकताकेआधारपरसड़कपरटा¨रगकरवानीचाहिएतथापानीकीनिकासीकाभीउचितकदमउठानेचाहिए।उधर,लोकनिर्माणविभागकेएसडीओमनोहरलालकाकहनाहैकिबरसातमेंसड़कोंकोकाफीनुकसानपहुंचाहै।बजटकाप्रावधानहोनेकेबादसड़ककीदशाकोसुधारनेकेप्रयासकिएजाएंगे।