रसायनयुक्त पानी पर मानवाधिकार ने लिया संज्ञान

संवादसहयोगी,धारूहेड़ा:यहांकेसेक्टरछहवचारमेंराजस्थानकेभिवाड़ीसेआरहेदूषितएवंरसायनयुक्तपानीकेमामलेमेंमानवाधिकारआयोगनेसंज्ञानलियाहै।आयोगनेइसमामलेमेंनिकायआयुक्तकोछहसप्ताहमेंइसमामलेकीजांचकरकेरिपोर्टभेजनेकेआदेशदिएहैं।जलभरावकेचलतेजहांसेक्टरकीसड़केंपूरीतरहसेक्षतिग्रस्तहोगईहैं।वहींअगरसमयरहतेरोकनहींलगाईतोदूषितपानीसेक्टरकेघरोंमेंभीघुससकताहै।कईमहीनोंसेलगातारहोरहेजलभरावसेसेक्टर-चारकापेयजलभीदूषितहोचुकाहै।सबसेअहमबाततोयहहैकिअधिकारियोंकोबार-बारशिकायतकरनेकेबावजूदराजस्थानसेआरहेपानीपररोकनहींलगाईजारहीहै।अबखरखड़ानिवासीप्रकाशयादवनेमानवाधिकारआयोगमेंशिकायतभेजीथी,जिसकेबादजवाबमांगागयाहै।

सेक्टर-चारआरडब्ल्यूएकेप्रधानअजीतकुमार,पूर्वप्रधानकृष्णयादव,सज्जनसिंह,सुरेशनूनिया,राजेशयादव,नरेशशर्माआदिनेबतायाकिभिवाड़ीसेनियमितरूपसेदूषितएवंरसायनयुक्तपानीनालेसेआरहाहै।नपाकीओरसेसेक्टरछहकेसामनेगड्ढाबनाकरपानीकोरोकाजारहाहै।लगातारतीन-चारमहीनेसेपानीकाफीजगहजमाहोचुकाहै।लंबेसमयसेजमाहोरहेपानीसेएकओरउठरहीदुर्गंधउठरहीहै,वहींसड़कोंपरजलभरावकेकारणस्थितिदयनीयबनीहुईहै।इससेसेक्टरवासियोंकोभारीपरेशानीउठानीपड़रहीहै।सेक्टरवासियोंनेबतायाकिजलभरावकेपासहीसेक्टरचारमेंपानीआपूर्तिकेलिएसबमर्सिबललगायाहुआहै।ऐसेमेंजलभरावकेचलतेसबमर्सिबलसेआनेवालापानीधीरे-धीरेदूषितहोनेलगाहै।अगरसमयरहतेजलभरावपररोकनहींलगाईतोसबमर्सिबलकापानीपीनेलायकनहींरहेगा।सेक्टरवासियोंकाआरोपहैकिभिवाड़ीसेआरहेपानीकोलेकरजिलाप्रशासनबिलकुलगंभीरनहींहै।नपासचिवअनिलकुमारनेबतायाकिपानीलगातारआरहाहै।इसबाबतमेंउच्चअधिकारियोंकोअवगतकरायाहुआहै।जबपानीपीछेसेहीरोकानहींजारहाहैतोहमऐसेमेंपानीकोकहांलेकरजाएं।दूषितपानीसेहमभीपरेशानहैं।पानीकोऔद्योगिककस्बेमेंछोड़ाजारहाहैताकियहांपरनहींभरे।

जमीनकापानीभीहुआजहरीला

राजस्थानसेआरहेदूषितवरसायनयुक्तपानीनेधारूहेड़ाकेभूमिगतपानीकोजहरीलाबनादियाहै।आसपासकेगांवोंकीजमीनभीजर्जरहोगईहै।जमीनकापानीपीनेकीबजायलोगफिल्टरपानीकोखरीदकरपीनेकेलिएमजबूरहोगएहैं।जलभरावकेकारणसड़केंभीटूटगईहैतथागहरेगड्ढेबनचुकेहैं।तमामविरोधप्रदर्शनोंकेबावजूदभीआजतकइससमस्याकासमाधाननहींहोपायाहै।

राष्ट्रीयहरितप्राधिकरणभीलेचुकाहैसंज्ञान

भिवाड़ीसेआरहेदूषितपानीकोलेकरराष्ट्रीयहरितप्राधिकरणभीसंज्ञानलेचुकाहै।धारूहेड़ानपाकीपूर्वप्रधानसुमित्रामुकदमकीयाचिकापरएनजीटीनेराजस्थानसरकारकोकड़ीफटकारलगाईथीतथाट्रीटमेंटप्लांटलगानेवअन्यउपायअपनानेकेलिएकहाथालेकिनआजतकभीसमाधानकारास्तानहींनिकलपायाहै।