शीर्ष अदालत ने न्यायालय की अवमानना के लिये प्रशांत भूषण पर एक रूपए का सांकेतिक जुर्माना किया

नयीदिल्ली,31अगस्त(भाषा)उच्चतमन्यायालयनेन्यायपालिकाकेप्रतिअपमानजनकट्वीटकरनेकेकारणआपराधिकअवमाननाकेदोषीअधिवक्ताप्रशांतभूषणकोसोमवारकोसजासुनातेहुयेउनपरएकरुपएकासांकेतिकजुर्मानालगाया।न्यायालयनेकहाकिभूषणनेन्यायकेप्रशासनकीसंस्थाकीप्रतिष्ठाकोकलंकितकरनेकाप्रयासकियाहै।शीर्षअदालतनेकहाकिवहकोईकठोरदंडदेनेकीबजायउदारतादिखातेहुयेभूषणपरएकरुपएकासांकेतिकजुर्मानालगारहीहै।न्यायमूर्तिअरूणमिश्रा,न्यायमूर्तिबीआरगवईऔरन्यायमूर्तिकृष्णमुरारीकीतीनसदस्यीयपीठनेदोषीअधिवक्ताप्रशांतभूषणकोसजासुनातेहुयेकहाकिजुर्मानेकीएकरुपएकीराशि15सितंबरतकजमाकरानीहोगीऔरऐसानहींकरनेपरउन्हेंतीनमहीनेकीकैदभुगतनीहोगीऔरतीनसालकेलियेवकालतकरनेपरप्रतिबंधरहेगा।पीठनेसजाकेबारेमेंअपने82पेजकेफैसलेमेंकहा,‘‘हमारेसुविचारितदृष्टिकोणमेंअवमाननाकर्ता(भूषण)द्वाराकियागयाकृत्यबहुतहीसंगीनहै।उन्होंनेन्यायकेप्रशासनकीउससंस्थाकीप्रतिष्ठाकोकलंकितकरनेकाप्रयासकियाजिसकावहस्वयंभीहिस्साहैं।’’पीठनेकहा,‘‘दोहरानेकीकीमतपर,हमेंयहकहनाहैकिदेशकीजनताकाविश्वासहीकानूनकेशासनकेलियेन्यायिकसंस्थाकीबुनियादहैजोलोकतांत्रिकव्यवस्थाकाअनिवार्यपहलूहै।’’न्यायमूर्तिमिश्रानेफैसलापढ़करसुनायालेकिनइसमेंफैसलेकेलेखककानामनहींथा।न्यायमूर्तिमिश्रादोसितंबरकोसेवानिवृत्तहोरहेहैं।न्यायालयने14अगस्तकोकार्यकर्ताअधिवक्ताप्रशांतभूषणकोन्यायपालिकाकेखिलाफदोअपमानजनकट्वीटकेलियेआपराधिकअवमाननाकादोषीठहरातेहुयेकहाथाकिइन्हेंजनहितमेंन्यापालिकाकेकामकाजकीस्वस्थआलोचनानहींकहाजासकता।पीठनेअपनेफैसलेमेंकहाकिकईबारउसनेसिर्फअवसरहीनहींदियेबल्किप्रत्यक्षऔरअप्रत्यक्षरूपसेभूषणकोइसमामलेमेंखेदव्यक्तकरनेकेलियेभीकहा।न्यायालयनेकहाकिअटॉर्नीजनरलकेकेवेणुगोपालनेभीसुझावदियाकिबेहतरहोगाकिअवमाननाकर्ताखेदव्यक्तकरकेअपनेजवाबीहलफनामेमेंलगायेगयेआरोपवापसलेले,लेकिनइसअनुरोधपरभीभूषणनेध्याननहींदिया।पीठनेकहा,‘‘अवमाननाकर्तानेइसन्यायालयमें14अगस्त,2020कोदियेगयेदूसरेबयानकोन्यायालयकेसमक्षआनेसेपहलेहीनसिर्फखूबप्रचारितकियाबल्किन्यायालयकेअधीनमामलेकेबारेमेंकईइंटरव्यूभीदिये।इसतरहउसनेइसन्यायालयकीप्रतिष्ठाऔरकमकरनेकाप्रयासकिया।पीठनेकहा,‘‘यदिहमइसतरहकेआचरणकासंज्ञाननहींलेंगेतोइससेदेशभरमेंवकीलोंऔरवादकारियोंकेबीचएकगलतसंदेशजायेगा।हालांकि,इसमामलेमेंउदारतादिखातेहुयेकठोरदंडदेनेकीबजायहमअवमाननाकर्तापरएकरुपएकासांकेतिकजुर्मानाकररहेहैं।’’पीठनेकहाकिशुरूसेहीशीर्षअदालतइसमामलेकोखत्मकरनाचाहतीथीऔरउसनेप्रत्यक्षयाअप्रत्यक्षरूपसेभूषणसेकहाकिमाफीमांगकरमामलेकोखत्मकरेंऔरसंस्थानऔरव्यक्तिकीगरिमाकीरक्षाकरें,जोन्यायालयकाअधिकारीहै।पीठनेकहाकिहमारेकहनेयाअटॉर्नीजनरलकीसलाहकेबावजूदभूषणनेकिसीप्रकारकाखेदनहींदर्शाया।अत:हमेंउन्हेंउचितसजादेनेपरविचारकरनाहीहोगा।शीर्षअदालतनेकहाकिहमनतोअवमाननाकर्ताकोकैदकीसजासुनानेऔरनहीउन्हेंवकालतसेबाहरकरनेसेडरतेहैं।न्यायालयनेकहाकिभूषणकाआचरणउनकेअड़ियलरवैयेऔरअहंकोदर्शाताहै,जिसकीन्यायप्रशासनप्रणालीऔरइसमहानपेशेमेंकोईजगहनहींहै।न्यायालयनेकहाकिसंस्थान,जिसकेवहभीसदस्यहैं,उसेनुकसानपहुंचानेकेलियेउन्हेंकिसीतरहकापछतावाभीनहींहै।पीठनेकहाकिहमसिर्फइसलिएपलटकरहमलानहींकरसकतेक्योंकिअवमाननाकर्तानेएकबयानदियाहैकिवहइसन्यायालयसेनतोउदारताचाहताहैओरनहीदयाचाहताहैऔरवहकोईभीसजाभुगतनेकेलियेतैयारहै,जोन्यायालयउसकृत्यकेलियेदेगाजिसेवहएकअपराधमानताहै।पीठनेकहाकिभूषणनेअपनेबयानमेंराष्ट्रपितामहात्मागांधीकाबयानभीउद्धृतकियाजोउन्होंनेअपनेखिलाफमुकदमेकीसुनवाईकेअंतमेंकियाथा।शीर्षअदालतनेकहाकिइसमेंकोईसंदेहनहींहैकिव्यवस्थाकीनिष्पक्षआलोचनाकेलियेअभिव्यक्तिकेअधिकारकेइस्तेमालकास्वागतहैऔरतथ्योंकोतोड़नेमरोड़नेऔरसीमासेबाहरनिकलकरकीजारहीआलोचनाकेलियेन्यायाधीशअतिसंवेदनशीलनहींहोसकते।न्यायालयनेकहाकिइसेबदनामकरनेऔरअवमाननाकारीबयानोंतकलेजानेकीअनुमतिनहींदीजासकती।न्यायालयकोउसपरिस्थितिमेंकार्रवाईकरनीहोगीजबयेहमलेएकसीमासेबाहरहोजायें।कानूनकेमजबूतहाथऐसेव्यक्तिपरहमलाकरतेहैंजोकानूनकेशासनकीश्रेष्ठताकोचुनौतीदेतेहैं।धवनने14अगस्तकानिर्णयवापसलेनेऔरभूषणकोकोईसजानहींदेनेकासुझावन्यायालयकोदियाथा।उन्होंनेन्यायालयसेइसमामलेकोनसिर्फबंदकरनेबल्किइसविवादकोखत्मकरनेकाभीअनुरोधकियाथा।न्यायालयनेकहाकिराजीवधवनकायहआग्रहस्वीकारनहींकियाजासकता।पीठनेइसतथ्यकाभीजिक्रकियाकिभूषणनेशीर्षअदालतकेचारवरिष्ठतमन्यायाधीशोंकी12जनवरी,2018कीप्रेसकॉन्फ्रेंसकोभीअपनाआधारबनानेकाप्रयासकिया।पीठनेकहा,‘‘हमआशाकरतेहैंकियहपहलाऔरअंतिमअवसरहैजबन्यायाधीशप्रेसमेंगयेहैंऔरईश्वरअंतरिमव्यवस्थाकेमाध्यमसेइसकीगरिमाकीरक्षाकरनेकाविवेकप्रदानकरे,विशेषकर,तबजबसार्वजनिकरूपसेलगायेगयेआरोपोंकोसहनेवालेन्यायाधीशइसकाजवाबनहींदेसकते।’’पीठनेकहाकिसच्चाईन्यायाधीशोंकेलियेभीबचावकारास्ताहोसकतीहैलेकिनवेन्यायिकमानकोंऔरशुचितातथाआचारसंहितासेबंधेहोतेहैं।न्यायालयनेकहाकिइसमामलेमेंभूषणकेबचावकोजनहितमेंयावास्तविकनहींकहाजासकता।