सिविल अस्पताल में जापान से आया वेंटिलेटर, आइसीयू में लगाया

जागरणसंवाददाता,कैथल:जिलानागरिकअस्पतालमेंजापानसेवेंटिलेटरआयाहै,जिसेआइसीयूमेंलगायागयाहै।अबविभागकेपासकुल21वेंटिलेटरहोगएहैं।इनमें10वेंटिलेटरपोर्टेबलअस्पतालमेंआएहैं।कोरोनाकीतीसरीलहरकोदेखतेहुएविभागकीतरफसेतैयारियांकीजारहीहैं।अस्पतालकीदूसरीमंजिलपरएकआइसीयूऔरतैयारकियाजारहाहै।पहले12बेडोंकाआइसीयूविभागकेपासहै।कोरोनामहामारीकीदूसरीलहरकेदौरानकाफीपरेशानीविभागकोआईथी,मात्रपांचवेंटिलेटरहीविभागकेपासथे।अबसंख्याबढ़कर31होगईहै।जापानसेजोवेंटिलेटरविभागकोमिलाहैवहफिलिप्सकंपनीकाहै।जापानकेलोगोंनेभारतमेंकरीबदोहजारवेंटिलेटरभेजेहैं,इनमेंसेएकवेंटिलेटरकैथलजिलेकोमिलाहै।अस्पतालमेंआक्सीजनप्लांटलगचुकाहै।एकहजारप्रतिमिनटआक्सीजनयहांसेअस्पतालकोमिलरहीहै,वहींपोर्टेबलअस्पतालभीबनकरतैयारहोरहाहै।इसमें10वेंटिलेटरसहितकुल100बेडहैं।20सितंबरतकयहबनकरतैयारहोजाएगा।इसपोर्टेबलअस्पतालमेंबालरोगविशेषज्ञसहितअन्यस्टाफकीनियुक्तिभीसरकारकीतरफसेकीजाएगी।

अबजिलेमें11कोरोनासंक्रमितकेस

जिलेमेंअबकोरोनाके11संक्रमितकेसहैं।इनमेंसेआठहोमआइसोलेटवतीनमरीजअस्पतालोंमेंदाखिलहैं।विभागकीतरफसेसिविलअस्पतालसहितग्रामीणक्षेत्रकेसरकारीअस्पतालोंमेंभीरोजानासैंपलववैक्सीनेशनकाकार्यकियाजारहाहै।खांसी-जुकामवबुखारकीजांचकोलेकरअस्पतालमेंकोरोनाओपीडीशुरूकीगईहै।संदिग्धनजरआनेपरसैंपललिएजारहेहैं।

चिकित्सकोंवउपकरणोंकीकमीकोलेकरभेजीगईहैडिमांड

जिलासिविलअस्पतालमेंचिकित्सकोंवउपकरणोंकीकमीकोपूराकरनेकेलिएविभागकीतरफसेडिमांडभेजीगईहै।पिछलेमाहजिलेकोसातनएचिकित्सकमिलेथे।इनमेंएकफिजिशियन,एकरेडियोलाजिस्ट,पोस्टमार्टमरिपोर्टविशेषज्ञ,हड्डीरोगविशेषज्ञसहितसातचिकित्सकआएथे।जिलेमेंएकबालरोगविशेषज्ञहैं,जबकिजरूरतकमसेकमछहडाक्टरोंकीहै।एकचिकित्सकहोनेकेकारणलोगोंकोइलाजकोलेकरकाफीदिक्कतआतीहै।कोरोनाकीतीसरीलहरकोदेखतेहुएबालरोगविशेषज्ञकीनियुक्तिबेहदजरूरीहै।कोरोनामहामारीकोलेकरविभागकीतरफसेडाक्टरोंवस्टाफनर्सोकोट्रेनिगभीदिलवाईजारहीहै।अगस्तमाहमें20डाक्टरोंव40केकरीबनर्सोंकोट्रेनिगदिलवाईजाचुकीहै।

जिलानागरिकअस्पतालकेप्रधानचिकित्साअधिकारीडा.शैलेंद्रममगाईशैलीनेबतायाकिसिविलअस्पतालकोजापानसेआयावेंटिलेटरमिलाहै,जोवहांकेलोगोंनेभारतकोदिएहैं।इसेआइसीयूमेंलगादियाहै।अबकुल31वेंटिलेटरविभागकेपासहोगएहैं,इनमेंसे10वेंटिलेटरपोर्टेबलअस्पतालमेंआएहैं।