सप्ताह में एक उपवास पाचन तंत्र को जीवनदान : बाबा कमल मुनी

अमनदीपराठौड़,बरनाला:

भारतीयसंस्कृतिकाहिस्साहैंउपवास।अबपश्चिमीदेशोंकेस्वास्थ्यविशेषज्ञभीमानतेहैंकिअत्यधिकभोजनमोटापासहितकईरोगोंकाकारणहोताहैतथाबीच-बीचमेंउपवासरखनास्वास्थ्यकीदृष्टिसेबेहदफायदेमंदहै।आयुर्वेदिकचिकित्सककीसलाहकेअनुसारअगरसप्ताहमेंएकबारउपवासकियाजाए,तोयहसेहतकेलिएबहुतहीलाभदायकहोताहै,इससेपाचनतंत्रभीठीकहोताहै।जबकिआयुर्वेदिकचिकित्सककमलमुनीवहरीकृष्णनेमानवकोस्वस्थरहनेकेलिएनिम्नसुझावदेतेहैं।खानानखाएंतोखूबपियेंपानी

आयुर्वेदिकचिकित्सककमलमुनीनेबतायाकिहमप्रतिदिनखानाखातेहैं,अगरहमएकदिनखानानखाएंतोहमाराशरीरकेअंदरसेपूरीतरहसाफहोजाएगा।उन्होंनेकहाकिसप्ताहमेंएकउपवासशरीरकीपाचनतंत्रकोस्वस्थरखनेमेंलाभदायकहै।हांजिसदिनखानानहींखानाउसदिनज्यादासेज्यादापानीपीएंताकिशरीरमेंजोभीबीमारीपैदाहोरहीहैवहखत्महोसके।उन्होंनेकहाकिप्रतिदिनहमकोहरीसब्जियोंकाप्रयोगकरनाचाहिएवसुबहउठकरताजापानीपीनाचाहिए।इसकेसाथहमबीमारियोंसेनिरोगरहसकतेहैं।आजकलदेखनेमेंआयाहैकिलोगहरीसब्जियोंकोकमवफास्टफूडकोज्यादापहलदेतेहैं,इसलिएअपनेखानेमेंअधिकसेअधिकहरीसब्जियोंकाइस्तेमालकरनाचाहिए।भीगेचलेंखाएं,लीवररहेगास्वस्थ

आयुर्वेदिकचिकित्सकहरीकृष्णदासनेबतायाकिहमकोरातकेसमयचनेपानीमेंभिगोकररखदेनेचाहिएवअगलेदिनसुबहचनेकोखालें।चनेखानेकेबादगुड़भीखाएं,क्योंकियहदोनोंचीजेंलीवरकोबचानेमेंकाफीसहयोगकरतीहैं।उन्होंनेकहाकिफ्रूटमल्टीविटामिनहोतेहै,इसलिएहमेंअपनीदिनचर्यामेंफ्रूटजरुरखानाचाहिए,इससेशरीरतंदरुस्तरहताहै।अगरहमसप्ताहमेंएकदिनकुछनहींखानाचाहतेयाउपवासकरनाचाहतेहै,तोउसदिनहमकोएकबोतलमेंपानीभरकरनीबूनिचोड़लेनाचाहिएवउसकोसमयसमयमेंपीएंक्योंकिनीबूमेंविटामिनसीहोताहैजोशरीरकोबीमारियोंसेबचानेकेलिएअपनाकामकरताहै।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!