सरकार को गरीबों के दर्द का अहसास नहीं, जरूरतमंदों और एमएसएमई की तत्काल मदद की जाए: सोनिया गांधी

नयीदिल्ली,28मई(भाषा)कांग्रेसअध्यक्षसोनियागांधीनेसरकारपरगरीबोंकेदर्दकाअहसासनहींहोनेकाआरोपलगातेहुएबृहस्पतिवारकोकहाकिमजदूरोंकोमुफ्तपरिवहनसेवाउपलब्धकरानेकेसाथहीगरीबपरिवारोंऔरसूक्ष्म,लघुएवंमध्यमउपक्रमों(एमएसएमई)कीतत्कालवित्तीयमददकीजाए।सोशलमीडियाकेविभिन्नमंचोंपरकांग्रेसकीओरसेशुरूकिएगए‘स्पीकअपइंडिया’अभियानकेतहतसोनियानेएकवीडियोजारीकरसरकारसेयहआग्रहभीकियाकिवहमनरेगाकेतहत200कामकाजीदिनसुनिश्चितकरेऔरसभीजरूरतमंदोंकेलिएराशनकाप्रबंधकरे।कांग्रेसकाकहनाहैकिउसनेगरीबों,मजदूरोंऔरछोटेकारोबारियोंकीमददकेलिएसरकारपरदबावबनानेकेमकसदसेयहअभियानचलायाहै।सोनियानेकहा,‘‘पिछले2महीनेसेपूरादेशकोरोनामहामारीऔरलॉकडाउनकेचलतेरोजी-रोटीकेगंभीरआर्थिकसंकटसेगुजररहाहै।आजादीकेबादपहलीबारदर्दकावोमंजरसबनेदेखाकिलाखोंमजदूरनंगेपांव,भूखे-प्यासेऔरबगैरसाधनकेसैकडों-हजारोंकिलोमीटरपैदलचलकरघरवापसजानेकोमजबूरहोगए।उनकादर्दऔरसिसकीदेशमेंहरदिलनेसुनी,परशायदसरकारनेनहींसुनी।’’कांग्रेसनेतानेदावाकियाकिकरोड़ोंरोजगारचलेगए,लाखोंधंधेचौपटहोगए,कारखानेंबंदहोगए,किसानकोफसलबेचनेकेलिएदर-दरकीठोकरेंखानीपड़ीं।यहपीड़ापूरेदेशनेझेली,परशायदसरकारकोइसकाअंदाजाहीनहींहुआ।उन्होंनेकहा,‘‘पहलेदिनसेहीकांग्रेसकेसबसाथियों,अर्थशास्त्रियों,समाजशास्त्रियोंनेऔरसमाजकेअग्रणीहरव्यक्तिनेबार-बारसरकारकोयहकहाकियेवक्तआगेबढ़करघावपरमरहमलगानेकाहै,मजदूरहोयाकिसान,उद्योगहोयाछोटादुकानदार,सरकारद्वारासबकीमददकरनेकाहै।नजानेक्योंकेंद्रसरकारयहबातसमझनेऔरलागूकरनेसेलगातारइंकारकररहीहै?’’उन्होंनेकहा,‘‘हमाराकेंद्रसरकारसेफिरआग्रहहैकिखज़ानेकातालाखोलिएऔरज़रूरतमंदोंकोराहतदीजिये।हरपरिवारकोछहमहीनेकेलिए7,500रुपयेप्रतिमाहसीधेनकदभुगतानकरेंऔरउसमेंसे10,000रुपयेफौरनदें।’’कांग्रेसअध्यक्षनेयहमांगभीकीकिसरकारमज़दूरोंकीसुरक्षितऔरमुफ्तयात्राकाइंतजामकरउन्हेंघरपहुंचाए,उनकेलिएरोजी-रोटीकाइंतजामभीकरे,राशनकाइंतजामभीकरें,मनरेगामें200दिनकाकामसुनिश्चितकरेऔरछोटेऔरलघुउद्योगोंकोकर्जदेनेकीबजायआर्थिकमदददे,ताकिकरोड़ोंनौकरियांभीबचेंऔरदेशकीतरक्कीभीहो।उन्होंनेकहा,‘‘देशभरसेकांग्रेससमर्थक,कांग्रेसनेता,कार्यकर्ता,पदाधिकारीसोशलमीडियाकेमाध्यमसेएकबारफिरसरकारकेसामनेयहमांगेंदोहरारहेहैं।संकटकीइसघड़ीमेंहमसबहरदेशवासीकेसाथहैंऔरमिलकरइनमुश्किलहालातोंपरअवश्यजीतहासिलकरेंगे।’’