स्टेडियम में पौधों को मिला पानी, अब संस्था ने संभाली जिम्मेदारी

जागरणसंवाददाता,सिरसा:हरबड़ेकार्यक्रमकागवाहबननेवालाशहीदभगतसिंहखेलस्टेडियममेंपौधेसूखनेलगेहैं।भीषणगर्मीमेंपौधोंकोपानीदेनेकीव्यवस्थानहोनेकेकारणपौधेमुरझागएहैंऔरछोटेपौधेतोसूखरहेहैं।व्यवस्थाकीलापरवाहीऐसीहैकिस्टेडियममेंट्यूबवेललगाहुआहैऔरइसकेबावजूदपौधोंतकपानीनहींपहुंचरहाहै।पिछलेकईदिनोंसेयहांपौधोंकोपानीदेनेकीमांगकीजातीरहीहैलेकिनअभीतकव्यवस्थानहींबनपाई।--------शहीदभगतसिंहवेलफेयरसोसायटीनेसंभालीजिम्मेवारीपौधोंकीदेखभालनहोनेसेखफाशहीदभगतसिंहवेलफेयरसोसायटीनेपौधोंकोबचानेकासंकल्पलियाहै।कमेटीकेसदस्यलक्ष्मीप्रजापतनेबतायाकि25सेअधिकसदस्यआगेआगएहैं।दिनभरपौधोंकोपानीदेनेकेलिएखराबपड़ीटोंटियांठीककरवाईगईहैं।वहींटैंकरमंगवाकरपानीडलवारहेहैं।उन्होंनेकहाकिपौधेलंबेसमयसेपानीनमिलनेकेकारणबढ़नहींरहेहैंबल्किसूखनेलगेहैं।-------------पौधोंकोबचानेकेलिएलगेगापानीकाभंडारासोसायटीकेसदस्योंनेप्रत्येकपौधेतकपानीपहुंचानेकेलिएचंदाइकट्ठाकियाहै।यहांखिलाड़ियोंकेसाथमिलकरहरपौधेतकपानीपहुंचायाजाएगा।फिलहालटैंकरसेपानीडलवायाजारहाहैऔरसप्ताहमेंएकदिनपानीकाभंडारालगायाजाएगाताकिसभीपौधोंकोपानीमिले।लक्ष्मीप्रजापतनेकहाकिपौधेबोलनहींसकतेलेकिनइसकाअर्थयेनहींहैकिउन्हेंयूंहीछोड़दियाजाए।उन्होंनेकहाकिपहलेभीसंस्थायहांपौधोंकीदेखभालकरतीरहीहैलेकिनअबयहकार्यनियमितरूपसेहोगा।