सूखे पड़े नहर और माइनर, कैसे हो रबी की बुवाई

लखीमपुर:इसपानीकीभीअजबकहानीहैअभीकुछमहीनेपहलेतकलगभगदोतिहाईजिलेमेंपानीकीअधिकतानेतबाहीमचारखीथी।कहींघरोंमेंतोकहींखेतोंमेंघुसताबेशुमारपानीलोगोंकोतबाहकररहाथा।मगरअबहालतयहहैकिकिसानएकएकबूंदपानीकोतरसताहैनहरयामाइनरयानदीकहींपरभीबूंदपानीभीनजरनहींआरहा।माइनरनहरझाड़,झंकारसेपटेपड़ेहैऔररबीकीबुवाईकेलिएकिसान¨सचाईकेलिएमुंहबाएखड़ेहैं।सरकारीनलकूपकहींटूटेहैं,हैंतोवहांऑपरेटरहीनहींहै।गेहूंकीबोवाईहोनीहै।इसकेअलावासरसों,मेथी,टमाटर,गाजरऔरमूलीसमेतशाकभाजीऔरदलहनीफसलोंकोबोयाजानाहै।पेड़ीगन्नाकोकाटकरकिसानगेहूंकेलिएकिसानखेततैयारकरेगा।सूखीनहरोंकीतस्वीरपेशकरतीआजकीदैनिकजागरणकीआंखोंदेखीरिपोर्ट।

गोमतीमेंभीपानीकीकमीसे¨सचाईहोरहीप्रभावित

मोहम्मदी:गोमतीनदीकेआसपासउनदर्जनोंगांवोंकेकिसानजिनकीखेतीइसनदीपरनिर्भरहै,उनकिसानोंकोभीनदीकेदिनपरदिनसिकुड़नेकेकारणअपनीफसलोंकी¨सचाईकी¨चतासतानेलगीहै।दिलावरपुर,बरेठी,मडैया,गौरिया,रामालक्ष्ना,दयानतपुर,गौरिया,हजरतपुरसहितदर्जनोंगांवोंकेकिसानोंकोइसीनदीकेपानीकीखेतीकेलिएआवश्यकताहोतीहै,नदीकेसिकुड़नेकेकारणजलस्तरभीकाफीकमहोगयाहै।नदीकीसफाईनहोनेवघटतेजलस्तरसेपानीकीकिल्लतदिनप्रतिदिनबढ़तीजारहीहै।

सिल्टसफाईनहोनेसेबढ़ीसमस्या

पिपरझला:रजबहाकस्तासेनिकलनेवालेमाइनरदोवर्षोंसेसिल्टसफाईनाहोनेकेकारणमाइनरोंमेंजलआपूर्तिपूर्णरूपसेबाधितहै।पानीनाआनेकेकारणकिसानोंकोकाफीसमस्याकासामनाकरनापड़रहाहै।सरैंया,दतेलीकला,पचदेवरा,अबगांवा,हरिहरपुर,धनपुर,ओड़हराआदिगांवोंकीफसलकी¨सचाईमाइनरोंसेहोतीथी।दतेलीकलांनिवासीकिसानसुधीरशुक्लाबतातेहैंपिछलेचारवर्षोंसेमाइनरदतेलीकलामेंपानीनहींआयाहै।

सूखगईशारदा¨सचाईनहर

निघासन:सुहेलीनदीसेनिकलीशारदा¨सचाईनहरजोकितहसीलक्षेत्रकेबौधिया,खैरहना,बम्हनपुर,दुबहा,चखरा,लुधौरी,निघासन,रकेहटी,ढखेरवाखालसा,दरेरी,बैरिया,पढुआसहितकरीबदोदर्जनसेअधिकग्रामपंचायतोंसेहोकरकरगुजरतीहै।तकरीबनदोमाहसेनहरमेंपानीनहींआया।जिससेलाही,आलू,मटर,केलाआदिफसलोंकी¨सचाईनहीकरपारहेहै।

क्याकहतेहैंजिम्मेदार

¨सचाईविभागशारदानगरअवरअभियंताप्रमोदकुमाररावतनेबतायाकिसुहेलीनहरमेंइससमयपानीनहींह।नहरकाक्लोजरसमयहै।अगलेमाहकेप्रथमसप्ताहमेंपानीछोड़ाजाएगा।.

सूखीनहरोंसेकैसे¨सचाईकरेकिसान

पलियाकलां:प्रदेशसरकारकीनि:शुल्क¨सचाईयोजनापर•िाम्मेदारपानीफेरतेन•ारआरहेहैं।¨सचाईकेलिएबनाईगईनहरेंऔरमाइनरअनदेखीकाशिकारहैं।उनकीनियमितसफाईतकनहींकीजाती।इससमस्याकोहलकरनेमेंअधिकारीऔरजनप्रतिनिधिनाकामसाबितहोरहेहैं।

पलेवातककेलिएनहींमिलरहापानी

बिजुआ:बसतौलीसेअलीगंजकेआगेतकजानेवालीनहरमेंपानीनहोनेसेकिसानोंकोअबगेहूंकीबुवाईकेसमयमुश्किलोंकासामनाकरनापड़रहाहै।नहरेंसूखीहैंऔरकिसानपलेवाकेलिएपानीनमिलनेसेबेहालहैं।महजएकचौथाईसेभीकमगेहूंकीबुवाईहोपाईहै।रबीफसलकोलेकरप्रशासनिकतैयारियोंकेदावेबेशकहों,लेकिनजमीनीहकीकतकिसानोंकोरुलारहीहै।नहरोंसे¨सचाईकोप्रदेशसरकारनेमुफ्तकररखाहै।किसानअपनेनिजीसंसाधनोंसेयदिखेतोंमेंपानीभरताभीहैतोउसेमहंगेडीजलकीमारझेलनीपड़तीहैं।नहरोंमेंपानीनाहोनेसेबिजुआ,बस्तौली,रामनगर,दंबलटांडा,बजेहडा,शाहपुर,गडरियनपुरवा,रंजीतनगर,मोहनपुरवा,गो¨वदापुरवा,अलीगंजआदिगांवप्रभावितहैं।सूखीनहर,लंबीझाड़ियांकिसानमायूस

भीरा:अलीगंजमुख्यनहरसेनिकलेएकदर्जनकेआसपासमाइनरऔरछोटीनहरोंकीसाफसफाईनाहोपानेसेसिल्टऔरझाड़ीजंगलसेपटगईहैं।अंबारा,बीबीपुर,रत्नापुर,पकरिया,बस्तोलाब्रांचनहरकीसफाईनहीकराईगईहै।ग्रामप्रधानइटकुटीसुमेर¨सह,प्रगतिशीलकिसानजसकरण¨सहकाकहनाहैजबकिसानोंकोपानीकीजरूरतहोतीहैतोवहनहरोंकीऔरदेखतेहैंलेकिनसूखीनहरेंदेखमायूसहोनापड़ताहै।

40वर्षोंसेपानीकेअभावमेंसूखापड़ासुहेलीमाइनर

ढखेरवा:सुहेलीनदीसेनिकलाबड़ामाइनरजोकिपिछलेकईमहीनोंसेपानीकेअभावमेंसूखापड़ाहुआहै।यहमाइनरनिघासनकोजोड़तेहुएपड़वा,रमियाबेहड़औरनैनापुरहोतेहुएघाघरानदीमेंमिलाहुआहै।इसमाइनरसेगांवसिसैया,सेमराबाजार,पड़वा,प्रसादपुरवा,कुसहा,ढखेरवा,लखनियापुर,लखनपुरवा,रमियाबेहड़,चंद्रपुरा,अभयपुर,नैनापुर,खेसवाही,जोधापुरवा,गुलरियाआदिदर्जनोंगांवोंकेकिसान¨सचाईकेअभावमेंमायूसहैं।सुहेलीबड़ेमाइनरसेगांवप्रमोदापुरकेपाससेनिकलेगोरियारजबहाकीखुदाई40वर्षपूर्वहुईथी।जिसमेंअभीतककभीपानीहीनहींछोड़ागयाहैऔरनाहीइसकीसफाईआदिकाकार्यकरायागयाहै।इसरजबहासेगांवचचरापूर्वा,खरवाहियानंबरदो,गोरिया,दुलहीतथाकेदारीपुरवावरायपुरसमेतदर्जनोंगांवकेकिसान¨सचाईकेअभावमेंमायूसहैं।

क्याकहतेहैंजिम्मेदार

¨सचाईविभागकेअधिशासीअभियंताडीसीवर्मानेबतायाकीमाइनरजगह-जगहपरकटचुकेहैं।जिसकारणपानीकीसप्लाईनहींदीजारहीहै।

सूखीपड़ीब्रांचनहर

बांकेगंज:खीरीब्रांचनहरवसीतापुरब्रांचनहरमेंसिल्टकीसफाईकईवर्षोंसेनहींहुईहै।उसकेबावजूदभीलगभगतीनसप्ताहसेखीरीब्रांचनहरवसीतापुरब्रांचनहरमेंपानीनहींछोड़ागयाहै।जिसकेकारणकिसानोंकोटयूबवेलकासहारालेनापड़रहाहै।खीरीब्रांचनहरपरराजनगर,स्टेशनपुरवा,मोतीपुर,टीकापुर,भुपपुरसहितअनेकगांवकेकिसानखेतीकरतेहैं।सीतापुरब्रांचनहरपरबांकेपुर,दौलतपुर,देवीपुर,गुलाबनगरसहितआदिगांवोंकेलोगोंखेतीबाड़ीकरतेहैं।