तेज प्रताप ने लालू प्रसाद यादव को जेल से रिहा करने की मांग की

पटना,23मार्च(भाषा)राष्ट्रीयजनतादल(राजद)केअध्यक्षलालूप्रसादयादवकेबड़ेबेटेतेजप्रतापयादवनेबुधवारकोमांगकीकिउनकेपिताकोतत्कालकारागारसेरिहाकियाजाए।लालूप्रसादयादवकाइससमयअस्पतालमेंइलाजचलरहाहै।चाराघोटालामेंसजाकाटरहेलालूप्रसादयादवकोरांचीसेएयरएंबुलेंसकेजरियेनयीदिल्लीस्थितअखिलभारतीयआयुर्विज्ञानसंस्थान(एम्स)इलाजकेलिएभर्तीकराएजानेकेएकदिनबादराजदविधायकतेजप्रतापनेविधानमंडलपरिसरमेंसंवाददाताओंसेबातचीतकरतेहुएयहमांगकी।लालूप्रसादयादवकारांचीस्थितराजेंद्रआयुर्विज्ञानसंस्थान(रिम्स)मेंइलाजचलरहाथालेकिनस्वास्थ्यमेंगिरावटआनेकेबादनयीदिल्लीस्थितएम्सस्थानांतरितकियागयाहै।तेजप्रताप(35)नेकहा,‘‘मैंनेदेखाहैकिमेरेपिताकोबार-बारजेलमेंडालाजारहाहै,ऐसेमेंमामलेमेंउन्हेंफंसायागयाजिसेउन्होंनेहीसुलझानेकीकोशिशकीथी।’’उन्होंनेआरोपलगायाकिअविभाजितबिहारकेविभिन्नजिलोंमेंफर्जीवाड़ाकरकरीब1000करोड़रुपयेनिकालनेकेलिए‘‘प्राथमिकतौरपरजिम्मेदार’’सरकारीअधिकारी‘‘आजादघूम’’रहेहैंजबकिउनकेपिताबुजुर्गहोनेऔरकईबीमारियोंकेबावजूदप्रताड़ितहोरहेहैं।लालूप्रसादकेधुरविरोधीऔरराज्यकेमुख्यमंत्रीनीतीशकुमारपरनिशानासाधतेहुएराजदनेतानेआरोपलगाया,‘‘वह(कुमार)हत्याकेमामलेमेंआरोपीहैंऔरउम्रकैदकीसजापातेलेकिनभाजपाकेगठबंधनकीवजहसेऐसानहींहोरहा।’’उल्लेखनीयहैकिचुनावहिंसाकेदौरानहत्याकामामलावर्ष1990मेंदर्जकियागयाथातबकुमारतत्कालीनबाढ़लोकसभासीटसेसांसदथे।हालांकि,कुमारकेखिलाफअपराधिकसुनवाईतीनसालपहलेहीपटनाउच्चन्यायालयखारिजकरचुकाहै।